*images by IPRD

कुमैठा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, देवघर में आज मोमेंटम झारखण्ड के चौथे ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह का का उद्घाटन मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने किया। इस दौरान 151 कंपनियों का शिलान्यास किया गया,  जिसमें कुल 27 सौ करोड़ का निवेश किया जाएगा। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि बाबा बैद्यनाथ की धरती से पूरे संथाल परगना के विकास की नींव रखी जा रही है। इससे लगभग 10,000 लोगों को रोजगार का अवसर प्राप्त होगा। आजादी के बाद पहली बार इस क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए यह कार्यक्रम यहाँ आयोजित किया जा रहा है। 

पिछले तीन वर्षों में विकास की एक नई लकीर खींची है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड एक समृद्ध राज्य है लेकिन कुछ कारणों से इस राज्य का विकास जिस ढंग से होना चाहिए था, उस ढंग से नहीं हो पाया है। झारखंड में बेरोजगारी है जिस वजह से लोग अभाव की जिंदगी जी रहे हैं। सरकार बेरोजगारी को समाप्त करने के लिए कृतसंकल्पित है। सरकार झारखंड में रहने वाले सभी लोगों के चेहरे पर मुस्कुराहट लाना चाहती है। झारखंड में खनिज संपदा होने के बावजूद भी आज तक यहां के लोग अभाव के जिंदगी जी रहे थे। श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की सोच से इस राज्य का निर्माण हुआ था लेकिन सरकार की आस्थिरता के कारण विकास नहीं हो पाया। 14 वर्षों के बाद पहली बार राज्य को स्थिर सरकार मिली। माननीय प्रधानमंत्री जी ने यहां के लोगों से वादा किया था और लोगों के विश्वास पर खरे उतरते हुए सरकार ने पिछले तीन वर्षों में विकास की एक नई लकीर खींची है।

‘‘हर हाथ को काम, हर खेत में पानी’’ को साकार करने को प्रतिबद्ध
पंडित दीनदयाल जी के सोच ‘‘हर हाथ को काम, हर खेत में पानी’’ को साकार करने के लिए सरकार ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया है। आज यहां के लोग गर्व से कह सकते हैं कि हम झारखण्डी हैं। झारखंड विश्व के मानचित्र पर अपनी एक अलग पहचान बनाने लगा है। सरकार हर क्षेत्र में एक से बढ़कर एक कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे उद्योग किसी राज्य की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। सरकार नारे से नहीं चलती, नीति और नीयत से सरकार चलती है। सरकार के साथ जितने भी कंपनियों के एमओयू अब तक हुए हैं धीरे-धीरे सारी कंपनियां जमीन पर उतर रही है एवं एक साल में झारखंड के जमीन पर निवेशकों द्वारा निवेश भी किया गया। *पूरे देश में Ease of Doing Business में भी झारखंड सबसे ऊपर*  है। उन्होंने कहा कि टीम झारखंड के कारण हीं यह संभव हो पाया है कि झारखंड देश का दूसरा राज्य है जहां की आर्थिक विकास दर 8.6 है। उन्होंने कहा कि झारखंड निवेशकों का पसंदीदा स्थान बन चुका है। संथाल परगना आजादी के बाद भी पिछड़ा क्षेत्र रहा लेकिन अब संथाल परगना पिछड़ा नहीं रहेगा सरकार ने संथाल परगना के विकास के लिए विशेष योजनाएं बनाई है। देवीपुर में 120 करोड़ की लागत से प्लास्टिक पार्क की स्थापना की जाएगी। एम्स की जमीन स्थांतरित कर दी गई है एवं एयरपोर्ट का भी शिलान्यास माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा किया जाएगा। यह सारी योजनाएं संथालपरगना के विकास में चार चांद लगाएगी।पूरे राज्य में सबसे अधिक कोकून का उत्पादन दुमका जिले में होता है। दुमका जिला प्रशासन द्वारा कोकून से निर्मित मयूराक्षी सिल्क की भी अब अपनी एक नई पहचान बन चुकी है। उन्होंने कहा कि सिल्क की मांग पूरे विश्व में है। टेक्सटाइल के क्षेत्र में सरकार कार्य कर रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लोग सरल और सीधे हैं। यहां के लोगों के विश्वास के साथ सरकार किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करेगी। झारखंड अपार संभावनाओं से भरा प्रदेश है। हर राज्य के पास मेहनत करने वाले लोग हैं। वर्ष *2020 तक निश्चित रूप से झारखंड देश के सबसे विकसित राज्य में शामिल होगा एवं आने वाले 10 वर्ष के भीतर झारखंड को एक नई ऊंचाई पर खड़ा करना सरकार का लक्ष्य है। झारखंड के 3.15 करोड़ जनता हमारे साथ है। राज्य को आगे बढ़ाना है तो महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करना होगा तभी राज्य विकास होगा।

श्री रघुवर दास ने कहा कि जिला प्रशासन दुमका द्वारा महिलाओं को सशक्त करने के लिए उन्हें स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। बालीजोर गांव की महिलाओं के द्वारा बाली फुटवेयर बनाकर वहां कि महिलाओं को सशक्त करने का कार्य किया जा रहा है। इससे स्थानीय महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार भी देखने को मिल रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 6 महीने के भीतर 6 शहरों को एयर कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि आगामी दिसंबर, 2018 तक हर गरीब के घर 24×7 बिजली पहुंचाना सरकार का लक्ष्य है। झारखंड का असली चित्र गांव में देखने को मिलती है। झारखंड की आत्मा गांवों में बसती है। गांव का सर्वांगीण विकास करने के लिए सरकार नित प्रतिदिन नए-नए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि नाबार्ड के द्वारा 1500 सौ करोड़ रुपए लेकर सभी गांव के संपर्क रास्तों को जोड़ने का कार्य सरकार करेगी। पर्यटन के क्षेत्र में भी सरकार विशेष रूप से कार्य कर रही है। पर्यटन से भी राज्य की अर्थव्यवस्था में सुधार होगी। साथ हीं साथ झारखंड की एक बेहतर छवि दूसरे देशों में भी बनेगी। उन्होंने कहा कि मेरा संकल्प बेरोजगारी को खत्म करना है। झारखंड की गरीबी को खत्म करना है। कार्यक्रम में आए निवेशकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे राज्य के आन-बान और शान अपने संथालपरगना का विकास अब होकर रहेगा और माननीय प्रधानमंत्री का न्यू इंडिया का सपना अब निश्चित रूप से पूरा होगा।

-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga

इस अवसर पर संबोधित करते हुए अपर मुख्य सचिव सह विकास आयुक्त सुखदेव सिंह ने कहा कि बाबा नगरी में आयोजित यह कार्यक्रम और यहां किए गए करार उतने हीं पक्के होंगे, जितने बाबा के प्रति लोगों की आस्था है। उन्होंने कहा कि झारखंड प्राकृतिक संपदा से भरा पड़ा है। भगवान ने झारखंड को हर खनिज संपदा दी है। विकास के लिए पूंजी निवेश होना अति आवश्यक है तभी विकास सही मायने में होगा और लोगों को दिखाई देगा। सरकार ने अपनी नीति और नीयत को स्पष्ट किया है कि सरकार राज्य के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि निवेश में जो बाधक होते थे सरकार ने उसे खत्म किया है। सिंगल विंडो सिस्टम के द्वारा निवेशकों को झारखंड में निवेश करने में आसानी हो रही है। उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री ने सभी को निर्देश दिया था कि सचिवालय से प्रखंड तक अगर कोई भी बाधा डालेगा तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। सरकार की नीयत में किसी प्रकार की खोट नहीं है एवं सरकार का सपना है गरीब और समाज में खड़े अंतिम व्यक्ति के चेहरे पर खुशी लाना है।

वहीं उद्योग खान एवं भूतत्व विभाग के सचिव डा सुनील कुमार वर्णवाल ने कहा कि राज्य सरकार की नीयत निवेशकों के प्रति बिल्कुल साफ है। राज्य सरकार उद्योगों को धरातल पर लाने के लिए प्रयत्नशील है। संथाल परगना के विकास के लिए सरकार उद्योगों को प्रोत्साहित करना चाहती है, इससे क्षेत्र का सर्वांगीण विकास हो सकेगा। यहां के लोगों को रोजगार के नए-नए अवसर मिलेंगे साथ हीं उनके जीवन स्तर में भी सुधार आएगा। इसके अलावा उनके द्वारा बतलाया गया कि ऐसे 39  उद्योग हैं जो सिर्फ संथाल परगना क्षेत्र पर हीं लगाए जा सकते हैं। इन उद्योगों के माध्यम से इस क्षेत्र की प्रकृति संपदा का उपयोग कर लोगों को रोजगार के नये अवसर प्रदान किये जा सकेंगे। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा पूरे राज्य में निवेश का एक बेहतरीन माहौल उत्पन्न किया जा रहा है। इसके तहत् कई कार्यो पर काम शुरु हो चुका है एवं राज्य सरकार सिर्फ बाहर के निवेशकों को हीं आकर्षित नहीं कर रही है बल्कि स्थानीय लोगों को भी राज्य में निवेश के लिए प्रोत्साहित कर रही है। यहां के लोग अब इस राज्य में निवेश करना सुरक्षित समझ रहे हैं, जिस वजह से इज ऑफ डूइंग बिजनेस में झारखंड पूरे देश में पहले स्थान पर पहुंच गया है। सभी लोगों के सहयोग से यह राज्य पूरे देश में निवेशकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। साथ हीं उन्होंने निवेशकों का धन्यवाद देते हुए कहा कि आपको यदि किसी भी प्रकार की परेशानी अगर महसूस होती है तो राज्य सरकार को सूचना दें। सरकार आपकी परेशानियों का समाधान करने हेतु हर संभव प्रयासरत है।

डीसी देवघर श्री राहुल कुमार सिन्हा ने सबके प्रति आभार जताया  मुख्यमंत्री ने सफल आयोजन के लिए उन्हें बधाई दी। इस अवसर पर देवघर के उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कहा कि यह आयोजन संताल परगना के लिए ऐतिहासिक है । उन्होंने कहा कि सरकार लोगों को रोजगार देने के लिए कृतसंकल्पित है । उन्होंने इस कार्यक्रम सफल आयोजन के लिए कार्यक्रम से जुड़े सभी लोगों को धन्यवाद दिया।

इस अवसर पर टाटानगर इंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक उषा रानी ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री के प्रयास से जो झारखंड में विकास की लहर बनी है उसकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है हम इस राज्य में इन्वेस्ट कर रहे हैं और आगे भी करने की इच्छा है उन्होंने कहा कि 25 साल से मैं झारखंड में काम कर रही हूं लेकिन सरकार ने निवेश के लिए जो हमारा उत्साह और हमें जो सहूलियत प्रदान की है  उसके लिए मैं पूरी सरकार को तहे दिल से धन्यवाद देती हूँ ।

ईसाफ ग्रुप के एसोसिएट डायरेक्टर अजीत सेन ने कहा कि झारखंड में करीब 3 लाख लोग हैंडीक्राफ्ट पर कार्य कर रहे हैं ।दुनिया की सबसे बड़ी फर्नीचर कंपनी सितंबर माह से संथाल परगना में उद्योग की स्थापना कर रही है । इससे यहां के लोगों को रोजगार मिल सकेगा । आने वाले दिनों में 3000 महिलाओं को यहां रोजगार उपलब्ध होगा उन्होंने उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा हमें सहयोग मिल रहा है सरकार निश्चित रूप से झारखंड का विकास चाहती है । उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन दुमका द्वारा बाली जोर गांव में स्थानीय महिला द्वारा बाली फुटवेयर का विनिर्माण किया जा रहा है । लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए हमारा सहयोग हमेशा रहेगा ।

इस अवसर पर कौशल त्रिवेणी फूड पार्क लिमिटेड के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर कल्याण कुमार मुखर्जी ने कहा कि सरकार ने झारखंड में उद्योग स्थापित करने का एक बेहतर माहौल बनाया है यह किस प्रकार की जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है उन्होंने कहा कि अब हम जैसे उद्योगपतियों को बहुत आसानी से जमीन उपलब्ध हो जाता है यह काबिले तारीफ है साथ ही साथ सरकार ने हर जगह सड़क का निर्माण कर हमें काफी सहूलियत भी दी है सिंगल विंडो सिस्टम के माध्यम से हमें काफी सुविधाएं मिल रही हैं

इस अवसर पर Galaxy एलीगेंट फैशन प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक मनीष कुमार सिंह ने कहा कि मैं तहे दिल से राज्य सरकार को धन्यवाद देता हूं जिनकी मदद से हम जैसे लोगों को व्यापार कर इस राज्य में व्यापार करने में सुविधाएं मिल रही है उन्होंने कहा कि सरकार झारखंड के लोगों को रोजगार से जोड़ना चाहती है हम सभी सरकार के सपनों को साकार करने में अपना योगदान देंगे

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास एवं अतिथियों के द्वारा डिस्ट्रिक्ट लेवल बिजनेस परफॉर्म एक्शन प्लान, 2014 का विमोचन भी किया गया।

समाज कल्याण मंत्री श्रीमती डॉ लुईस मरांडी, श्रम नियोजन मंत्री श्री राज पालिवार , कृषि मंत्री श्री रणधीर सिंह स्वास्थ्य मंत्री श्री रामचंद्र चंद्रवंशी , गोड्डा के सांसद श्री निशिकांत दुबे, धनबाद के सांसद श्री पशुपतिनाथ सिंह, देवघर विधायक श्री नारायण दास अपर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह उद्योग खान एवं भूतत्व विभाग के सचिव डॉक्टर सुनील कुमार वर्णवाल संथाल परगना के डीआईजी श्री अखिलेश कुमार झा उद्योग विभाग के निदेशक श्री के रवि कुमार देवघर के उपायुक्त श्री राहुल कुमार सिन्हा दुमका के उपायुक्त श्री मुकेश कुमार गोंडा के उपायुक्त श्रीमती किरण पासी देवघर के पुलिस अधीक्षक श्री नरेंद्र कुमार के साथ विभिन्न औद्योगिक जगत के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

must read