*कार्यक्रम में पुष्पगुच्छ स्वीकार करतीं प्राचार्य।

जमशेदपुर वीमेंस यूनिवर्सिटी को नए वर्ष से पहले बड़ी सौगात मिली है। सोमवार को विश्वविद्यालय को अपना नया भवन मिल गया। 

राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के कंपोनेंट 1 के तहत जमशेदपुर वीमेंस यूनिवर्सिटी के रूप में अपग्रेड हुए जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज का यह सेकेंड कैंपस सिदगोड़ा में स्थापित किया गया है। झारखंड सरकार के उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग के अंतर्गत राज्य परियोजना निदेशालय से प्राप्त निर्देशों के आलोक यह प्रक्रिया पूरी की गई। इस दौरान परिसर में समारोह का आयोजन किया गया। इसमें प्रभारी प्राचार्या डॉ. सबीहा यूनुस ने विधिवत रूप से JSBCCL के प्रबंधक सह कार्यपालक अभियंता उज्ज्वल नाग से नव निर्मित भवन और बिष्टुपुर कैंपस में जीर्णोद्धारीकृत भवनों का अधिग्रहण किया। अब विश्वविद्यालय के बाद 2 कैंपस है। पुराना कैंपस बिष्टुपुर में ही पूर्व की तरह संचालित होता रहेगा। दोनों कैंपस के बीच की दूरी करीब 6 KM है।

प्रशासनिक भवन सह एकेडमिक भवन। नौ मंजिला। इसमें प्रशासनिक अधिकारियों के चैंबर हैं। ऊपरी तल पर पुस्तकालय भवन है। सात अलग-अलग तल में विभिन्न विभागीय कक्ष, क्लास रूम व प्रयोगशालाएं हैं। इसके अलावा सिंडिकेट रूम, 500 बेड का छात्रावास है। ओपेन ग्राउंड है। अगले चरण में 7 भवन और इसी कैंपस में बनेंगे। इसमें शिक्षकों के आवास व एक और प्रशासनिक भवन तथा इंडोर स्टेडियम बनेंगे। पुराने कैंपस में बहुउद्देशीय भवन बनाया गया है। MBA भवन का विस्तार किया गया है।

इस अवसर पर प्रभारी प्राचार्या ने कहा कि यह विश्वविद्यालय पूरे जमशेदपुर के अभिभावकों और छात्राओं के लिए उपहार है। बताया कि अधिग्रहण संबंधी सूचना राज्य परियोजना निदेशालय, राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग, झारखंड सरकार को भेज दी गई है। आगे की प्रक्रिया विभाग से प्राप्त निर्देशों के आलोक में पूरी की जाएगी। वर्तमान में इस शिक्षण संस्थान के अंतर्गत करीब 9500 छात्राएं अध्ययनरत हैं।इस अवसर पर प्रभारी प्राचार्या ने कहा कि यह विश्वविद्यालय पूरे जमशेदपुर के अभिभावकों और छात्राओं के लिए उपहार है। बताया कि अधिग्रहण संबंधी सूचना राज्य परियोजना निदेशालय, राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग, झारखंड सरकार को भेज दी गई है। आगे की प्रक्रिया विभाग से प्राप्त निर्देशों के आलोक में पूरी की जाएगी। वर्तमान में इस शिक्षण संस्थान के अंतर्गत करीब 9500 छात्राएं अध्ययनरत हैं।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read