ये एक उग्रवादी था।वो सबसे भयानक उग्रवादी संगठन भाकपा माओवादी के लिए काम करता था । वह दस्ते के सदस्यों के लिए अलग-अलग काम करता था। विस्फोटक जुटाने के साथ हथियारों की मरम्मत एवं लेवी वसूली के लिए ठेकेदारों व व्यवसायियों तथा संगठन के बीच मध्यस्थ का काम करता था।

आज वो पुलिस के द्वारा गिरफ़्तार हो चुका है ।झारखंड में गुमला जिले के विशुनपुर में पुलिस ने इस भाकपा माओवादी के सदस्य जसीम लोहरा उर्फ जसवीर लोहरा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 

पुलिस इंस्पेक्टर श्यामानंद मंडल ने मंगलवार को बताया गया कि पकड़ा गया नक्सली रविंद गंजु दस्ते के लिए हथियार मरम्मत, विस्फोटक जुटाने तथा पोस्टर लगाने का काम करता था। लेवी के पैसे दस्ते तक पहुंचान में शामिल था।

विशुनपुर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि भाकपा माओवादी के रविंद्र गंजु दस्ते से जुड़ 3 सदस्य कुमाडी मोड़ के पास हैं। इसके बाद थाना प्रभारी सदानंद सिंह के नेतृत्व में टीम बनाकर छापेमारी की गई। 

इस दौरान मोड़ के पास 3 व्यक्ति एकत्र दिखाई दिए। पुलिस को देखते यह सभी भागने लगे। इस दौरान पुलिस ने 1 व्यक्ति को पकड़ लिया। पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नाम जसीम लोहरा उर्फ जसवीर बताया। तलाशी के दौरान इसके पास से देशी पिस्टल, दो जिंदा गोली और माओवादियों का पर्चा बरामद किया गया। जांच में पता चला कि जंगल का फायदा उठाकर भागने वालों में बुद्धेश्वर महली उर्फ डॉक्टर व बलराम उरांव शामिल थे। पुलिस इनकी तलाश कर रही है।

गिरफ्तार उग्रवादी जसीम ने पुलिस को बताया कि वह दस्ते के सदस्यों के लिए अलग-अलग काम करता था। विस्फोटक जुटाने के साथ हथियारों की मरम्मत एवं लेवी वसूली के लिए ठेकेदारों व व्यवसायियों तथा संगठन के बीच मध्यस्थ का काम करता था। रविंद्र गंजू के कहने पर क्षेत्र में पोस्टर चिपकाने का काम भी करता था।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read