विमेन डॉक्टर विंग, आईएमए झारखंड के प्रतिनिधिमंडल एवं झारखण्ड आई.एम.ए. सचिव डॉ. प्रदीप सिंह और रांची आई.एम.ए. अध्यक्ष डॉ. शम्भू सिंह ने आज पुलिस महानिदेशक से मिलकर डॉ नीलिमा से फिरौती मांगने वाले अपहरणकर्ता की तवरितगिरफ़्तारी के लिए उनको धन्यवाद दिया तथा तुरंत फिरौती की रकम शीघ्र वापस कराने की मांग की। 

 

वीमेन डॉक्टर्स विंग के प्रतिनिधिमंडल में शामिल महिला चिकित्सकगण डॉ ब्यूटी बनर्जी, डॉ रश्मि प्रसाद, डॉ तनुश्री चक्रवर्ती, डॉ अनुपम सिंह ने डीजीपी को बताया कि राज्य के दूर दराज के इलाकों में काम करने वाली महिला चिकित्सक काफी भयभीत स्थिति में काम कर रही हैं।

 

वीमेन डॉक्टर्स विंग की चेयरपर्सन डॉ भारती कश्यप ने बताया कि चंदवा (लातेहार) में पदस्थापित महिला चिकित्सक डॉ नीलिमा कुमारी अपहरणकर्ता की गिरफ़्तारी से चिकित्सक समुदाय राहत महशुस कर रहा है।

 

झारखण्ड आई.एम.ए. के सचिव डॉ प्रदीप सिंह और रांची आई.एम.ए. के अध्यक्ष डॉ शम्भू सिंह ने कहा कोविड के समय सरकारी महिला चिकित्सक के साथ हुई यह घटना अत्यंत ही शर्मनाक है और इससे राज्य के सभी चिकित्सक भयभीत है।

 

हैदराबाद से आए डॉ नीलिमा के भाई महेश्वर सिंह मुंडा जो कि पेशे से इंजिनियर हैं ने बताया कि एक महीने पहले ही उनकी पिता की मौत के कारण उनका पूरा परिवार सदमे में था और अब बहन के अपहरण से पूरे परिवार को दूसरा आघात लगा था,  अब अपहरणकर्ता की गिरफ़्तारी से हम खुश हैं । वीमेन डॉक्टर्स विंग एवं झारखण्ड और रांची आई.एम.ए. ने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है, इसके लिए मैं बहुत शुक्रगुजार हूँ।

 

आई.एम्.ए. के प्रतिनिधिमंडल को डीजीपी श्री नीरज सिन्हा ने कहा कि इस घटना पर उनकी व्यक्तिगत नजर पहले से है। इस घटना में शामिल अपराधी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार भी कर लिया गया है और पुलिस फिरौती की रकम को वापस कराने के लिए प्रयासरत है।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read