लातेहार जिले के ललमटिया डैम में वन विभाग द्वारा एशियन वाटरबर्ड सेंसस 2022 के तहत एशियाई जल पक्षियों की गणना की गई। कार्यक्रम में उपायुक्त अबु इमरान मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। 

वन विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मुख्य रूप से स्थानीय वाटर बर्ड्स व माइग्रेटरी बर्ड्स की पहचान एवं गणना की गई। वन विभाग की टीम द्वारा पक्षियों की फोटोग्राफी की गयी l उपायुक्त लातेहार, अबु इमरान ने इस मौके पर कहा कि लातेहार जिला में देखने के लिए जंगल, पहाड़, जलप्रपात के अलावा विभिन्न प्रजातियों के सुन्दर पक्षी भी हैं l ठंड के मौसम में विभिन्न प्रजाति के प्रवासी पक्षी लातेहार जिला के जलाशयों को अपना आश्रय बनाते हैं l 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

उन्होंने कहा कि लातेहार जिला में बर्ड वाचिंग एवं इको टूरिज्म की काफ़ी संभावना है l लातेहार में एशियन वाटरबर्ड्स सेंसस का आयोजन काफ़ी अच्छी पहल है l वन प्रमंडल पदाधिकारी रोशन कुमार ने प्रवासी एवं स्थानीय वाटर बर्ड्स की पहचान के संदर्भ में जानकारी दी l उन्होंने पर्यावरण के दृष्टिकोण से पक्षियों के महत्व के बारे में बताया l वहीं पक्षियों के प्रति लोगों में जागरूकता लाने एवं पक्षियों के संरक्षण की बात कही l 

गणना के दौरान कॉमन किंगफिशर, रेड नेप्ड आईबिस, ओपन बिल स्टॉर्क, कॉमन कॉन्मोरेंट आदि प्रजातिया पाई गई।

मौके पर लालमटिया डैम में बर्ड वाचिंग टावर बनाने तथा इको टूरिज्म को विकसित करने पर चर्चा की गर्वl

इसके साथ ही उपायुक्त लातेहार अबु इमरान ने लालमटिया डैम के सौंदर्यीकरण कार्य का निरीक्षण किया l उन्होंने लालमटिया डैम में कैफ़ेटेरिया निर्माण हेतु स्थल का अवलोकन किया l

मौके पर डीपीओ संतोष कुमार भगत , नजारत उपसमाहर्ता शिवेंंद्र कुमार सिंह, जिला मत्स्य पदाधिकारी दिव्या गुलाब बा एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

must read