झारखण्ड पुलिस के वरीय अधिकारियों ने जवानों के कॉमनवेल्थ गेम्स कैंप-2022 के चयन शिविर में भाग लेने हेतु आदेश निर्गत कर दिया है। अब खिलाड़ी के प्रदर्शन पर निर्भर करता है कि वे 28 जुलाई 2022 से बर्मिघम लंदन में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स-2022 में झारखण्ड के लॉन बॉल खिलाड़ी का हिस्सा बन पाएंगे या नहीं।

क्या है मामला?

झारखण्ड के लॉन बॉल खिलाड़ियों का चयन दिल्ली में 15 मार्च से शुरू हो चुके ऑल इंडिया सेलेक्शन कैंप में हुआ है। लेकिन बॉलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित इस सलेक्शन कैंप में शामिल होने के लिए पुलिस विभाग ने खिलाड़ियों को छुट्टी नहीं दी थी। 
जबकि झारखण्ड बॉलिंग एसोसिएशन ने जैप एडीजी को पत्र लिखकर खिलाड़ियों को कैंप में शामिल होने के लिए 12 मार्च से तीन महीने की छुट्टी देने के लिए पत्र लिखा था। इन खिलाड़ियों की नौकरी खेल कोटे से पुलिस में बतौर सिपाही हुई है। इस बाबत जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री ने झारखण्ड पुलिस के वरीय अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि मामले को अधिकारी जल्द से जल्द देखें। हमारे खिलाड़ी हमारा गौरव हैं, और हम यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि उन्हें राज्य और राष्ट्र के लिए खेलने के सभी अवसर प्राप्त हो।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read