*Representational image

ये एल्डर्स क्लब है क्या।खेल, पुस्तकों और हमउम्रों के सहारे हंसी- खुशी दिन व्यतीत कर रहे जामताड़ा के बुजुर्ग।ये बुजुर्ग हैं कोंन।

सभी जानते हैं कि बढ़ती उम्र में एक पड़ाव आता है, जहां बुजुर्ग एक तरह से उबाऊ जीवन व्यतीत करने लगते हैं। पारिवारिक कारणों से भी उन्हें कई बार उचित सम्मान एवं सुविधाएं नहीं मिल पाती है, जिससे उनके जीवन में निराशा छा जाती है और वे खुद को खुश नहीं रख पाते। 

लेकिन झारखंड में एक ज़िला है जामताड़ा है जहां का एल्डर्स क्लब बुजुर्गों की इन समस्याओं का समाधान बन कर सामने आया है। इनडोर एवं आउटडोर खेलों, धार्मिक एवं साहित्यिक पुस्तकों तथा योग से यहां के बुजुर्ग एकरस जीवन को सरस बना रहे हैं। 

 उन्हें उनके जैसे कई अन्य व्यक्ति मिलें, जिन्हें वे अब अपना दोस्त कहते हैं। इस क्लब की स्थापना के पीछे का उद्देश्य बुजुर्गों के अकेलेपन की एकरसता में रस घोलना है। गौरतलब है कि ज्यादातर मामलों में बुजुर्गों के बच्चे या नाती - पोते पीढ़ी के अंतर के कारण उनके साथ बातचीत करने में अनिच्छुक होते हैं। यहां एल्डर्स क्लब में उन्हें अपनी उम्र के लोगों के साथ बातचीत करने का मौका मिलता है और इससे उनका तनाव कम होता है।

*विभिन्न प्रखंड में शुरू हुआ क्लब:

जामताड़ा के सभी छः प्रखंडों जामताड़ा, नारायणपुर, करमाटांड़ (विद्यासागर), फतेहपुर, नाला एवं कुंडहित प्रखंड में एल्डर्स क्लब क्रियाशील है। बुजुर्ग व्यक्ति यहां पर अपना खाली समय कैरमबोर्ड, लुडो, शतरंज, टीवी, समाचार पत्र, पत्रिकाएं, किताबें, योग, पार्क आदि की सुविधाओं का लाभ लेकर जिंदगी को जिंदादिली से जी रहे हैं। मालूम हो कि प्रतिदिन प्रखंड कार्यालय में दूर दराज के क्षेत्रों से अक्सर बुजुर्ग व्यक्ति काम से आते हैं, ऐसे में उनके लिए यह वरदान साबित हो रहा है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपायुक्त की विशेष पहल से एल्डर्स क्लब का तोहफा मिला है। सभी छह प्रखंड मुख्यालयों में पुराने अनुपयोगी भवनों का जीर्णोधार कर उसे क्लब का रूप दिया गया है। प्रखंड के 60 वर्ष से ऊपर के सभी नागरिक क्लब के सदस्य हैं।

*क्लब को मिला डिजिटल रूप:

एल्डर्स क्लब को डिजिटल रूप देते हुए जामताड़ा एल्डर्स क्लब वेबसाइट लॉन्च किया गया है। उसके माध्यम से सभी प्रखंडों में बने एल्डर्स क्लब की जानकारी हासिल की जा सकती है। वेबसाइट के जरिए संबंधित क्लब तक पहुंचने का मैप, गैलरी के माध्यम से क्लब की तस्वीर आदि के अवलोकन की सुविधा के साथ कई महत्वपूर्ण सरकारी योजनाओं से जुड़े लिक भी दिए गए हैं। ओल्ड एज पेंशन, जन्म मृत्यु निबंधन, झारसेवा, ई-पेंशन, डिस्ट्रिक्ट पोर्टल के अतिरिक्त कम्युनिटी लाइब्रेरी के लिए लिंक दिया गया है।

"जिला प्रशासन ने बुजुर्गों के अकेलेपन और सामाजिक अलगाव के दौर से गुजरने को काफी गंभीरता से लिया और उनके लिए कुछ अलग करने की पहल हुई है, ताकि बुजुर्ग अपने हमउम्रों के साथ अपने बीते दिनों को पुनः जीवंत कर सकें। अपना मनोरंजन कर सकें। अपने आप को व्यस्त रख सकें एवं तनाव रहित जीवन जिएं।"

(ये लेख लिखा है फैज अहमद, उपायुक्त, जामताड़ा।)
 

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read