ये केंद्र कया है ?

• *प्रवासी श्रमिकों का होगा सुरक्षित और प्रभावी प्रवासन
• *जल्द ही दुमका में भी शुरू होगा एसआरएमआइ केंद्र


प्रवासी श्रमिकों के सुरक्षित और जिम्मेदार प्रवासन के लिए पश्चिमी सिंहभूम में सेफ एंड रिस्पॉन्सिबल माइग्रेशन केंद्र की शुरुआत जिले के श्रम अधीक्षक द्वारा 26 अप्रैल 2022 को किया गया। कार्यक्रम में जिला प्रशासन के अन्य अधिकारियों के अलावा राज्य श्रमिक संस्थान स्थित सेरमी (SRMI) की टेक्निकल सपोर्ट यूनिट (TSU) के सदस्य एवं जिले के श्रमिक मित्र भी उपस्थित थे। 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

यह केंद्र जिला श्रम एवं रोजगार कार्यालय के तत्वावधान में जिलास्तरीय सहायता प्रकोष्ठ के रूप में जिले के श्रम अधीक्षक एवं रोजगार अधिकारी के पर्यवेक्षण में कार्य करेगा। इसके जरिये पश्चिमी सिंहभूम में अंतरराज्यीय प्रवासियों और उनके परिवारों की पहचान करने की दिशा में काम होगा, ताकि ऐसे श्रमिकों एवं कामगारों की सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

यह कार्य उपायुक्त और अन्य अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर किया जायेगा। साथ ही, श्रमिकों और कामगारों के पंजीकरण की भी सुविधा केंद्र में दी जाएगी। इनके लिए शिविर का आयोजन भी समय-समय पर करने की योजना है।

 

बताते चलें कि गुमला में गत 20 अप्रैल 2022 को राज्य के पहले एसआरएमसी केंद्र का शुभारंभ हुआ था। गुमला के बाद पश्चिमी सिंहभूम में भी एसआरएमसी केंद्र शुरू हो चुका है। इन दोनों जिलों के अलावा जल्द ही दुमका में भी एसआरएमआइ केंद्र की स्थापना की जायेगी।

must read