*Representational image credit & courtesy jagran.com

झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन के समक्ष आज झारखंड मंत्रालय में लगभग 5 वर्षो से बंद पड़े अर्बन हाट रांची के री-कंस्ट्रक्शन मास्टर प्लान की पीपीटी प्रेजेंटेशन रखी गई। नगर निगम रांची द्वारा पीपीटी प्रस्तुतीकरण दी गई।

 पीपीटी प्रेजेंटेशन के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन को अवगत कराया गया कि अर्बन हाट रांची का निर्माण कार्य 30 अगस्त 2016 को प्रारंभ हुआ था, परंतु किसी कारणवश निर्माण कार्य लगभग पिछले 5 वर्षों से बंद पड़ा था। वर्तमान सरकार के निर्देशानुसार अर्बन हाट रांची का री-कंस्ट्रक्शन कार्य प्रारंभ करने की योजना है, इस निमित्त नगर निगम रांची द्वारा री-कंस्ट्रक्शन मास्टर प्लान ऑफ अर्बन हाट तैयार कर ली गई है। 

मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि अर्बन हाट रांची के निर्माण के लिए पहले से ही 10 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई है। नए मास्टर प्लान के तहत अर्बन हाट रांची को दिल्ली हाट के तर्ज पर बनाए जाने की तैयारी की जा रही है। मुख्यमंत्री ने पीपीटी प्रेजेंटेशन देखते हुए निर्देश दिया कि अर्बन हाट रांची में राज्य के क्षेत्रीय हस्तकला सहित विभिन्न कारीगरों को अधिक से अधिक रोजगार मिले इसका पूरा ध्यान रखा जाए। 

मौके पर मुख्यमंत्री ने नगर निगम रांची के अधिकारियों को अर्बन हाट निर्माण कार्य को लेकर कई महत्वपूर्ण सुझाव एवं दिशा-निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि अर्बन हाट रांची का निर्माण कार्य एक तय समयसीमा के अंतर्गत पूरा करें। मौके पर मुख्यमंत्री के सचिव श्री विनय कुमार चौबे, नगर आयुक्त श्री मुकेश कुमार, अपर नगर आयुक्त श्री कुंवर सिंह पाहन, चीफ इंजीनियर श्री राकेश कुमार सहित अन्य उपस्थित थे।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read