*All images by IPRD, Jharkhand

झारखंड में इज ऑफ डूइंग को विस्तार देते हुए पहली बार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से बिना कोई कागजी प्रक्रिया किए फैक्ट्री का निबंधन करा कर उसका शुभारंभ शनिवार को किया गया। रांची के दलादली में आयुर्वेदिक दवा बनाने वाली कंपनी युवनम का उद्घाटन मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने किया। मौके पर आबकारी आयुक्त भोर सिंह यादव, एनआरएचएम के निदेशक कृपाशंकर झा, ड्रग कंट्रोलर नीतू सहाय समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे। युवनम मशहूर आयुर्वेदिक दवा कंपनी वैद्यनाथ से जुड़ी है। 

युवनम के निदेशक प्रमोद शर्मा ने बताया कि ऑनलाइन निबंधन प्रक्रिया और उत्पादन शुरू करने के बीच सिर्फ तीन माह का समय लगा। इस तरह युवनम सिंगल विंडो सिस्टम से ऑनलाइन निबंधन करा कर उत्पादन शुरू करने वाली पहली कंपनी बन गई है। उन्होंने बताया कि कंपनी एक करोड़ रुपये की शुरुआती पूंजी से उत्पादन शुरू कर रही है। इसमें 50 लोगों को प्रत्यक्ष और लगभग 300 लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। बताया कि दो साल में कंपनी लगभग 25 करोड़ की होगी तथा प्रत्यक्ष तौर पर 150 लोगों को रोजगार मिलेगा।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Savtribai Phule Kishori Samriddhi Yojna

युवनम की रांची यूनिट के निदेशक प्रण शर्मा ने बताया कि इसकी दो यूनिट दिल्ली और पटना में पहले से चल रही है। उन्होंने बताया कि रांची यूनिट से आयुर्वेद की 467 उत्पादों का उत्पादन होगा। वहीं झारखंड के वनों से प्राप्त होनेवाली औषधीय सामग्री का अधिकाधिक उपयोग दवा निर्माण में किया जाएगा। कंपनी की एक अन्य निदेशक नीता शर्मा ने बताया कि रांची यूनिट से रत्नावले च्यवनप्रास की उन्नत किस्म का भी उत्पादन किया जाएगा।

must read