करम पूजा बड़ी धूम धाम से मनाया जा रहा है. इसके लिए लगभग सारी तैयारियां पूरी कर ली गई थी.अब शाम के वक्त पूरा परिवार इकट्ठा हुवा . इसमें सभी लोग नए कपड़े और गहने पहनें दिखे. जिसके बाद करमा पेड़ की डाली को एक बार में काट कर लाया गया और उसके बाद पूजा की गई.

करमा झारखंड के प्रमुख त्योहारों में से एक है. यह पर्व झारखंड के अलावा ओडिशा, बंगाल, छत्तीसगढ़ और असम में आदिवासी समुदाय द्वारा धूमधाम से मनाया जाता है. इस साल करमा पर्व आज यानी 6 सितंबर मंगलवार को है. इस पर्व को मनाये जाने का मुख्य उद्देश्य है बहनों द्वारा भाईयों के सुख-समृद्धि और दीर्घायु की कामना की जाती है.

कारोना संक्रमण के कारण दो साल करमा पूजा धूमधाम से नहीं मनाया जा सका था, ऐसे में इस बार पर्व को लेकर दोगुना उत्साह है. राजधानी रांची में सभी अखड़ा में पूजा हुई. मुख्यरूप से हातमा, सिरमटोली, करमटोली, वीमेंस कालेज, आदिवासी हास्टल, हरमू, डंगराटोली में भव्य रूप से पूजा होगी. मुख्य पाहन जगलाल पाहन हातमा अखड़ा में पूजा कराया गया.

-----------------------------Advertisement------------------------------------Savtribai Phule Kishori Samriddhi Yojna

must read