*File photo

देश की सर्वश्रेष्ठ पारा लीगल वॉलेंटियर बसंती गोप की रिम्स रांची में निधन, केंसर जैसी गंभीर विमारी से जूझ रही थी बसंती गोप |

यह एक अत्यंत दुखदाई घड़ी है तथा उनकी कमी को कभी भी पूरा नहीं किया जा सकता। वह अत्यंत जुझारू एवं कर्मठ व्यक्तित्व की धनी थी एवं लोगों की सेवा के लिए तत्पर रहने वाली महिला थी। जिन्होंने जीवनपर्यंत असहाय लाचार व गरीबों तथा मानसिक रोगियों की सहायता की एवं कभी भी हिम्मत नहीं हारी तथा सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत बनी रही। 

यही कारण थे कि बसंती गोप को सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के हाथों देश की सर्वश्रेष्ठ पारा लीगल वालंटियर  की सम्मान पाने का सौभाग्य प्राप्त किया गया था , श्रीमती बसंती गोप जो पिछले कई महीनों से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से ग्रसित थी, एवं उनका इलाज रिम्स रांची में चल रहा था, का इलाज के दौरान रात्रि 12:00 बजे के लगभग निधन हो गया है । श्रीमती गोप एक महान आत्मा थी। उनके द्वारा ना जाने कितने लावारिस शवों का दाह संस्कार करवाया गया एवं जिले भर के ना जाने कितने मानसिक रूप से विक्षिप्त लोगों का इलाज कांके रांची भेजकर करवाया गया गया । उनका सारा कार्य काफी सराहनीय रहा है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उनकी निधन  से चाईबासा वालों को काफी क्षति हुई है ! उनके पार्थिव शरीर को आज रांची से चाईबासा ले जाया जाएगा !!

-----------------------------Advertisement------------------------------------Savtribai Phule Kishori Samriddhi Yojna

must read