*All images by IPRD, Jharkhand

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड की लॉ यूनिवर्सिटी देश ही नहीं दुनिया का सबसे अच्छी लॉ यूनिर्वसिटी हो, इसके लिए हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा। सरकार के क्षेत्र में जो भी काम हैं, वो राज्य सरकार पूरा करेगी। उसी प्रकार यहां के शिक्षक और बच्चे इसे विश्वस्तरीय बनाने की दिशा में काम करें। नेक इरादे और अच्छी नियत से किया गया कोई भी काम अवश्य पूरा होता है। उक्त बातें उन्होंने नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ द्वारा आयोजित ओरिएंटेशन प्रोग्राम के उदघाटन के बाद उपस्थित छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के चार स्तंभों में न्यायपालिका का योगदान महत्वपूर्ण है। न्याय के किरण को घर-घर पहुंचाना है। यह जब अशिक्षित - अभावग्रस्त लोगों तक पहुंचेगा, तो न्यायपालिका पर विश्वास और बढ़ेगा। लॉ कॉलेज के छात्र-छात्राएं छुट्टी के दिनों में आसपास के गांव जायें। वहां सरकारी योजनाओं की स्थिति की समीक्षा करें। गांव वालों की जरूरतों को समझें। इसके बाद एक रिपोर्ट बनाकर संस्थान के माध्यम से सरकार के पास भेजें। सरकार उनके सुझावों का पूरी तरह से क्रियान्वयन करेगी।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Savtribai Phule Kishori Samriddhi Yojna

मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्र इंटर्न के लिए वकील के यहां समय दें। न्यायालय में मुकदमों की सुनवाई देखें। इससे उनका अनुभव बढ़ेगा। आज हर सेक्टर में कानून के जानकारों की जरूरत है। छात्रों के पास यह सुनहरा अवसर है अपना कैरियर बनाने का। वे अपने काम से गरीब और जरूरतमंदों की मदद करें, तभी उनके मां-पिता का सपना पूरा होगा। अनुशासन का पालन छात्र जीवन से ही करें। यह आपकी सफलता सुनिश्चित करेगा।

कार्यक्रम में झारखंड उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश डी0एन0 पटेल, न्यायाधीश अप्रेश सिंह, ज्यूडिशियल एकेडमी के निदेशक गौतम कुमार चौधरी, डीन ऑफ फैकेल्टी डॉ संगीता लाहा, लोकायुक्त जस्टिश डी0एन0 उपाध्याय, विधायक डॉ जीतूचरण राम, गंगोत्री कुजूर समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

must read