जैन समाज झारखंड सरकार के फैसले के ख़िलाप उतर आया है

जैन समाज आक्रोशित है।झारखंड सरकार की ओर से सम्मेद शिखर पहाड़ को पर्यटल स्थल घोषित करने का मामला तूल पकड़ रहा है। 

सम्मेद शिखर को पारसनाथ पर्वतराज धार्मिक स्थल बताते हुए जैन समाज इस फैसले के विरोध में उतर गया है। समाज का मानना है कि ये पहाड़ उनका धार्मिक स्थल है।

पर्यटल स्थल घोषित करते ही यहां पर पर्यटकों की भीड़ में मांस और शराब का सेवन का चलन बढ़ेगा। इससे धार्मिक स्थल की पवित्रता प्रभावित होगी। इस कड़ी में बांसवाड़ा में सकल जैन समाज बांसवाड़ा-डूंगरपुर व विश्व जैन संगठन के तत्वावधान में हजारों की संख्या में जैन समाज ने झारखंड सरकार के फैसले का विरोध किया। 

साथ ही राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और झारखंड के मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। समाज की मांग पर जिला प्रशासन की ओर से बांसवाड़ा के तहसीलदार ने ये ज्ञापन लिया।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read