*All images by IPRD, Jharkhand

ज्ञात हो कि आज रात ट्रेन के माध्यम से ही कोटा, राजस्थान से प्रवासी विद्यार्थियों को राँची लाया जा रहा है। इनकी स्क्रीनिंग के पश्चात इन्हें अपने जिले हेतु बसों के माध्यम से रवाना किया जायेगा। जहाँ विद्यार्थियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जाएगी, जिसके बाद उन्हें उनके घरों तक जिला प्रशासन के द्वारा पहुंचाया जाएगा। इसके लिए विद्यार्थियों के परिजन को  कहीं जाने की आवश्यकता नहीं होगी।  गाड़ियां द्वारा बच्चों को उनके घरों तक सकुशल पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा कार्य किया जा रहा है। 

राज्य सरकार की पहल से अपने जिले वापस पहुँच रहे प्रवासी मजदूर

राज्य सरकार के अथक प्रयास से तेलंगाना से ट्रेन के माध्यम से झारखंड पहुंचे प्रवासी मजदूरों को विभिन्न जिलों में बसों के माध्यम से पहुंचाया गया। हटिया में इन मजदूरों की स्क्रीनिंग की गयी उसके पश्चात इन्हें अपने जिले हेतु बसों से रवाना किया गया। आज सभी मजदूर जैसे-जैसे अपने जिले पहुँच रहे है उनकी जिला प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य की जांच की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा उन्हें सुविधानुसार होम क्वॉरेंटाइन और क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है। इसके साथ ही विभिन्न जिलों से नजदीकी राज्य मे फंसे जिले के मजदूरों को भेजने एवं वापस लाने हेतु कार्य किया जा रहा है। वापस आने वाले मजदूरों को मनरेगा के तहत रजिस्टर्ड भी कराया जा रहा है एवं उन्हें राशन भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read