चूड़ी निर्माण के व्यवसाय से जुड़कर रांची की कई महिलाएं आत्मनिर्भर बन रही हैं।

घर की शोभा नारी होती है और नारियों की शोभा उनके कलाईयों पर रंग-बिरंगी चूड़ियाँ। आज यही चूड़ियाँ कई नारियों के आत्मसम्मान और आत्मविश्वास का जरिया बन रहा है। रांची मे महिलाओं का एक समूह लाह समेत दूसरी चुड़ियों के निर्माण में लगा है।

इस समूह से जुड़ी महिलाएं न सिर्फ रोजगार बल्कि, महिलाओं की दूसरी सामाजिक-आर्थिक समस्याओं मे मदद के लिए आगे रहती हैं।
आज चुड़ी के इस घर बैठे व्यवसाय से जुड़कर महिलाएं सम्मान के साथ अच्छी आमदनी कर रही हैं।

खासकर, शादी ब्याह के मौकों पर इनकी खुबसूरत चुड़ियों की डिमांड काफी बढ़ जाती है। महिलाओं की लगन से इनका कारोबार खुब तेजी से आगे बढ़ रहा है।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read