स्वतंत्रता संग्राम के अमर सेनानी और आजाद हिंद फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर आज दिनांक 23 जनवरी को सुबह ग्यारह बजे राजधानी रांची में समारोह एवं विचार गोष्ठी का आयोजन कर अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की गयी. इस अवसर पर नेता जी के बताये मार्ग पर चलने का संकल्प लिया गया.
राजधानी के कचहरी चौक स्थित नेताजी पार्क में आयोजित एक समारोह में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की रांची जिला इकाई के द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गयी.

इस अवसर पर प्रतिमा स्थल पर जिलाध्यक्ष सुरेश मल्लिक की अध्यक्षता में आयोजित विचार गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त करते हुए अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के झारखण्ड प्रदेश अध्यक्ष डॉ.प्रणव कुमार बब्बू ने कहा कि नेताजी ने न केवल देश की स्वतंत्रता बल्कि समाज और प्रत्येक व्यक्ति व परिवार के संपूर्ण विकास के लिए भी अपना संदेश दिया. डॉ.बब्बू ने नेताजी के नाम पर स्थापित पार्क के व्यावसायिक उपयोग पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि महान स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर स्थापित पार्क का संपूर्ण विकास न होना गंभीर चिंता की बात है. उन्होंने कहा कि नेताजी ने यह बताया था कि बिना आत्मसम्मान के हम उस लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकते जिसके लिए हमारा जन्म हुआ है.

इस अवसर पर डॉ.प्रणव कुमार बब्बू, मुकेश कुमार, प्रमोद श्रीवास्तव, अमरेन्द्र कुमार पप्पू, सुरेश कुमार मल्लिक, सूरज कुमार सिन्हा, अनिल सिन्हा, पंकज श्रीवास्तव, विजय कुमार दत्त पिंटू, संतोष दीपक, महिला जिलाध्यक्ष जुली सिन्हा, मनोज सिन्हा, सुधीर श्रीवास्तव, जयदीप सहाय, पंकज कुमार सिन्हा, दिनेश प्रसाद सिन्हा, शंभू नारायण, अमितेश वर्मा, रवि शंकर सहाय, मधुकर सिन्हा समेत अनेक पदाधिकारियों एवं एबीकेएम के सदस्यों ने अपने विचार व्यक्त किये.

-----------------------------Advertisement------------------------------------Jharkhand School of Exccellence 
--------------------------Advertisement--------------------------MGJSM Scholarship Scheme

must read