कोरोना संक्रमण काल ने जब विकास की गति को धीमी कर दी थी तब देश में नित नए प्रयोग भी होने लगे, जिससे आर्थिक गति को बल मिलने लगा। रांची में भी एक ऐसे शख्स हैं जिन्होंने लॉकडाउन के तुरंत बाद खिलौनों से जुड़े स्वरोजगार को शुरू किया और पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा।

रांची के रहने वाले मनोज कुमार ऐसे शख्स हैं जिन्होंने कोरोना संक्रमण काल की चुनौती को अवसर में तब्दील किया है। देश में लोकल प्रोडक्ट की बढ़ती मांग को देखते हुए मनोज कुमार ने खिलौना निर्माण का काम शुरू किया। टेडी बियर के निर्माण में मनोज कुमार से जुड़े कई लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार भी मिला है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत और वोकल फार लोकल के आह्वान ने मनोज कुमार के टेडी बियर निर्माण कार्य की गति को रफ्तार दे दी है। मनोज का मानना है कि युवाओं के सोच में बड़ा बदलाव आया है वे खुद जॉब क्रिएटर बनने की राह पर चल पड़े हैं।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

देश में युवा उद्यमियों के आगे आने से कई अन्य लोगों को भी रोजगार मिलना अब आसान हो गया है। मनोज कुमार ने जब टेडी बियर का निर्माण कार्य शुरू किया तब प्रमिला कुमारी और निम्मी जैसी कई अन्य को घर के पास ही रोजगार मिल गया।

बुलंद हौसलों को समेटे देश आत्मनिर्भरता से आत्मविश्वास की ओर कदम बढ़ा रहा है। यही वजह है कि मनोज कुमार जैसे शख्स की वजह से कई दूसरे घरों को भी आर्थिक रूप से मजबूत आधार मिल रहा है.

must read