Deoghar International Airport)का काम जल्द से जल्द पूरा करने के लिए युद्ध स्तर पर काम किया जा रहा है. 

एयरपोर्ट ऑपरेशनल होने पर यहां बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे. ऐसे में अब जिला प्रशासन एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Airport Authority of India) के साथ मिलकर क्षमता के अनुसार इसमें अधिक से अधिक स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने पर विचार कर रहा है.

जिला प्रशासन इस बाबत AAI को रूपरेखा बनाने को कहा है. देवघर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा निर्माण के बाद यह बिहार और बंगाल के एक दर्जन से अधिक जिलों के लिए भी बड़ा वरदान साबित होगा. अधिकारियों ने बताया कि एयरपोर्ट निर्माण का 75 फीसद तक काम पूरा कर लिया गया है.

एयरपोर्ट बनने के बाद यहां के स्‍थानीय लोगों के लिए रोजगार के नए अवसर भी सृजित होंगे. इसके लिए जिला प्रशासन और AAI ने मिलकर संभावित रिक्तियों की एक रूपरेखा तैयार करने का निर्णय लिया है. देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने बताया कि AAI के साथ विशेष बैठक कर एयरपोर्ट संचालन से लेकर एयरलाइन्स के मैनपॉवर की जरूरत स्थानीय सक्षम युवाओं से पूरी करने पर सहमति बनी है. इसके लिए जिला स्किल ऑफिसर और AAI द्वारा मिल कर यहां के सक्षम युवाओं को ट्रेनिंग देने का भी निर्णय लिया गया है. एयरपोर्ट निर्माण के बाद इस क्षेत्र में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलने से भी बड़े पैमाने पर रोजगार के नए अवसर सृजित होने की संभावना है.

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read