जूनियर डॉक्टर के प्रतिनिधियों के साथ रिम्स डायरेक्टर की वार्ता बेनतीजा रही है। इसके बाद जूनियर डॉक्टर ने रिम्स में कार्य बहिष्कार की घोषणा कर दी है। 2 बजे के बाद रिम्स में ओपीडी को बंद कर दिया जाएगा। वहीं तीन बजे से स्वास्थ्य विभाग के सचिव के साथ रेसिडेंट डॉक्टर के प्रतिनिधयों की वार्ता तय की गई है।

रेसिडेंट डॉक्टर एसोसिएश झारखंड के संयोजक डॉ. अजीत कुमार ने बताया कि अगर वार्ता साकारात्मक नहीं होती है तो जूनियर डॉक्टर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाएंगे। ओपीडी के बाद अन्य सेवाओं को भी बाधित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि रिम्स के अलावा राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों में जूनियर डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया है। डॉ. अजीत ने बताया कि फाइल के निपटारे के लिए स्वास्थ्य विभाग को डेढ़ महीने का समय दिया गया था। लेकिन सरकार उनकी मांगों को लेकर गंभीर नहीं दिख रही है।

तीन साल से नहीं हुआ है एरियर का भुगतान
IMA के संयुक्त सचिव डॉक्टर अजीत ने बताया कि वर्ष 2016 से 2019 तक के सातवें वेतनमान के आधार पर बकाया वेतन भुगतान की मांग लगातार रेजिडेंट डाक्टर कर रहे हैं । लेकिन स्वास्थ्य विभाग और रिम्स के अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read