उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने की वजह से सीमा सड़क संगठन, बीआरओ में काम करने वाले झारखंड के 15 श्रमिकों की मौत हो गयी थी। 

राज्य सरकार की पहल इन सभी श्रमिकों का पार्थिव शरीर आज उत्तराखंड से रांची के बिरसा मुंडा हवाईअड्डे पर पहुंचा। जहां झारखंड सरकार की ओर से कृषिमंत्री बादल ने एयरपोर्ट पहुंचकर सभी मृतकों के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धासुमन अर्पित किया। इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे भी मौजूद थे। 

कृषि पशुपालन एवं सहकारिता मंत्री बादल ने कहा की पूरा देश और विश्व एक तरफ कोरोना महामारी की लड़ाई लड़ रहा है,वहीं झारखंड में भी कोरोना का कहर जारी है, और इस बीच झारखंड के लोगो की मृत्यु उत्तराखंड में हो जाने से पूरे राज्य का माहौल गमगीन हो गया है । कृषिमंत्री ने कहा कि सरकार इस दुख की घड़ी में मृतक के परिजनों के साथ हैं , उन्होंने ईश्वर से कामना की, कि दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें और इस दुख की घड़ी में परिजनों को दुख सहने की शक्ति दे।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव ने भी मुख्यमंत्री से बातचीत कर चमोली हादसे के शिकार मृतकों के आश्रितों को मुआवजा दिलाने का भरोसा दिलाया है।
 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read