*Image credit IPRD, Jharkhand

मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने कहा है कि सरकार टाना भगतों को योजनाओं का अधिकाधिक लाभ देने की कोशिश कर रही है। इसके लिए टाना भगत भी अपनी जिम्मेदारी निभाएं। मुख्य सचिव मंगलवार को सचिवालय में टाना भगत विकास प्राधिकार की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में पूर्व में हुई टाना भगत विकास प्राधिकार की बैठक में लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की भी समीक्षा की गई। मुख्य सचिव ने स्पष्ट किया कि टाना भगतों को विद्युत कनेक्शन संबंधी सुविधा दी जाएगी। 

समीक्षा के दौरान टाना भगतों द्वारा धारित भूमि का उत्तराधिकार के आधार पर नामांतरण के मसले पर राजस्व, निबंधन एवं भूमि सुधार विभाग के सचिव केके सोन ने कहा कि दाखिल खारिज के मामले निपटाए जा रहे हैं। राज्य के आठ जिलों में कुल 3038 टाना भगत परिवार चिह्नित किए गए हैं। अगर इसमें कोई परिवार छूटा है, तो उसकी सूची टाना भगत विकास प्राधिकार के सदस्य उपलब्ध कराएं, ताकि उन्हें भी जोड़ा जा सके। सचिव ने बताया कि टाना भगतों के लगान विमुक्ति के फैसले पर भी अमल हो रहा है। समीक्षा के दौरान टाना भगतों को जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उन्हें सामाजिक, आर्थिक जनगणना की सूची के आधार पर लाभ देने की प्रक्रिया चल रही है। जो इस सूची में शामिल नहीं हैं, उन्हें भी प्रक्रिया के तहत सूची में जोड़ कर आगे आवास का लाभ दिया जाएगा।  

बैठक में जनकारी दी गई कि सिंचाई के लिए पांच एकड़ तक के किसानों को तालाब एवं कुआं निर्माण की व्यवस्था की गई है। वहीं टाना भगतों के बच्चों को उच्च शिक्षा हेतु झारखंड रक्षा शक्ति विश्वविद्यालय में दसवीं के बाद सर्टिफिकेट कोर्स इन पुलिस साइंसेज में नामांकन भी कराया जाएगा। बैठक में मौजूद विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार को इसमें आनेवाले खर्च आदि का ब्योरा देने को कहा गया। बताया गया कि रांची में राजस्व विभाग के तहत टाना भगतों के गेस्ट हाउस निर्माण के लिए एक एकड़ भूमि चिह्नित की जा चुकी है तथा यथाशीघ्र निर्माण शुरू किया जाएगा। जानकारी दी गई कि हर वर्ष 30 अगस्त को बेड़ो में टाना भगतों के राज्यस्तरीय सम्मेलन का आयोजन राजकीय समारोह के रूप में होगा तथा इसके लिए पर्यटन विभाग द्वारा आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग की सचिव पूजा सिंघल ने बताया कि टाना भगतों को प्रति गाय 55 हजार की लागत से चार दुधारु गाय खरीदने के लिए राशि उपलब्ध करायी जाएगी, तकि वे अपनी पसंद के अनुसार गाय खरीद सके। बैठक में टाना भगतों के नामित प्रतिनिधि पूर्व विधायक गंगा टाना भगत समेत अन्य सदस्यों ने टाना भगतों के लिए पूर्व से चल रहे तीन आवासीय विद्यालयों में टाना भगतों के बच्चों का नामांकन प्राथमिकता के आधार पर कराने की मांग की। इस पर मुख्य सचिव ने उन्हें भरोसा दिलाया कि नियमसंगत कार्रवाई की जाएगी। गुमला जेल के पास शहीद टाना भगतों के स्मारक बनाने की मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार का आश्वासन दिया गया। 1972 में टाना भगतों को मिली सरकारी जमीन पर दखल-दिहानी का भी भरोसा दिया गया। मुख्य सचिव ने कहा कि टाना भगतों के सभी सुझावों का अध्ययन कर समुचित कार्रवाई की जाएगी। बैठक में ऊर्जा सचिव नितिन मदन कुलकर्णी, कल्याण सचिव हिमानी पांडे समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 
 

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read