*Images by IPRD, Jharkhand

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि समस्त झारखण्डवासियों को सरहुल की बधाई। सरहुल प्रकृति पर्व है। यह हमें प्रकृति के संरक्षण और संवर्धन का संदेश देता है। आदिकाल से हमारे पूर्वज प्रकृति की पूजा करते आये हैं, इसी कारण आज हमारा राज्य हरा भरा है। मुख्यमंत्री अल्बर्ट एक्का चौक पर केंद्रीय सरना समिति द्वारा आयोजित सरहुल महोत्सव में बोल रहे थे।उन्होंने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि हम वनों का संरक्षण कर आनेवाली पीढ़ी को हरा भरा झारखंड सौंपे। नृत्य, संगीत व गीत झारखंड की पहचान है। यह हमारे जनजातीय संस्कृति की समृद्ध विरासत है। अपनी संस्कृति पर हमें गर्व है।
 

-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga

कार्यक्रम में झारखंड खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ, केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष फूलचंद तिर्की, केंद्रीय सरना समिति के कार्यकारी अध्यक्ष बबलू मुंडा समेत बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

must read