राज्य के वैक्सीनेशन प्रभारी ए डोडे ने बताया कि झारखंड में 18+ वालों के लिए मात्र 80 हजार टीके बचे हैं। डोड्डे ने बताया कि मई महीने में झारखंड को लगभग साढ़े 5 लाख टीका ही अलॉट किया गया था। अब इस आयु वर्ग के टीके की खेप जून में आएगी। जून में भी 5 लाख टीका ही अलॉट किया गया है। 

गुरूवार तक राज्य में 18 से 44 आयु वर्ग के मात्र 2.74 % युवाओं को ही टीका लग पाया है। अभी भी 97 फीसदी युवा ऐसे हैं जिन्हें टीके का इंतजार है। झारखंड इस आयु वर्ग की कुल आबादी 1 करोड़ 57 लाख 34 हजार है। इसमें मात्र 4 लाख 63 हजार 380 लोगों को टीका लग पाया है। 

डोड्डे ने बताया कि 18 से 44 एज ग्रुप के लोगों के लिए वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों और केन्द्र सरकार से वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो रही। इस कारण इस एज ग्रुप वालों का वैक्सीनेशन प्रोग्राम धीमा चल रहा है। डोड्डे ने बताया कि इस आयु वर्ग वालों के लिए टीका खरीदाना तो सरकार की जिम्मेदारी है लेकिन किस राज्य को कितने टीके अलॉट होंगे ये केंद्र सरकार तय करती है। 

डोड्डे ने बताया कि झारखंड सरकार राज्य में टीके की कमी को दूर करने के लिए ग्लोबल टेंडर की तैयारी कर रही है। ताकि विदेश से टीके खरीद कर राज्य के युवाओं को टीका लगाया जाए। इसका डॉक्टूमेंट तैयार कर लिया गया है बस सरकार के अप्रूवल का इंतजार किया जा रहा है। 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read