*Image courtesy Jagran.com

राशन के लिए लोगों को अब राशन कार्ड से पहले टीके का सर्टिफिकेट दिखाना होगा। बिना इसके डीलर को राशन देने से सख्त मना कर दिया गया है।

लोगों की टीका में दिलचस्पी नहीं लेने के कारण यह निर्णय लिया गया है। नारायणपुर के BDO ने बताया कि वैक्सीनेशन ही एक सहारा है, जिससे संक्रमण को कम किया जा सकता है। इसके बाद भी लोग लापरवाही बरत रहे हैं। लोगों को टीका के लिए जिला प्रशासन की तरफ से अलग-अलग माध्यम से जागरूक भी किया जा रहा है।

इससे पहले जामताड़ा के उपायुक्त फैज अहमद मुमताज ने नारायणपुर प्रखंड सभागार में समाज के धर्मगुरुओं के साथ बैठक भी की थी। इसमें उन्होंने वैक्सीनेशन के लिए समाज के लोगों को जागरूक के लिए उन्हें जिम्मेदारी दी थी। इसके अलावा झोला छाप डॉक्टरों से भी लोगों को टीका लगवाने में मदद करने के लिए कहा गया था। लेकिन इसका कोई असर नहीं दिख रहा है।

वहीं अब जनप्रतिनिधियों की भी जिम्मेदारी तय की गई है। इलाके के मुखिया, उप मुखिया, डीलर को कम से कम प्रतिदिन 10 लोगों को टीका लगवाने के लिए कहा गया है। यही जिम्मेदारी सहिया और सखी मंडल की दीदीयों को भी दी गई है। 

नारायणपुर प्रखंड में 28 मई से 6 जून तक कोविड वैक्सीनेशन के लिए विभिन्न पंचायतों में कैंप लगाया जा रहा है। नारायणपुर प्रखंड के मदनाडीह, पबिया, झिलुवा, पोस्ता, नारोडीह, नवाडीह, बुधुडीह, कुरता, चंदाडीह, लखनपुर, देवलबाड़ी, नारायणपुर, चंपापुर, शहरपुर, बोरवा इन सभी पंचायतों में कैंप लगाकर लोगों को वैक्सीन दी जा रही है। लेकिन लोग कैंप में पहुंच ही नहीं रहे हैं।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read