कोरोना के संक्रमण काल में झारखंड के सभी किसानों को 50 प्रतिशत की अनुदानित दर पर मॉनसून आने के पूर्व बीज उपलब्ध करा दिया जायेगा। 

हेमन्त सोरेन सरकार किसानों से अपील की है कि जिन्हें भी बीज की आवश्यकता है वो, पैक्स के माध्यम से टोकन प्राप्त कर बीज ले सकते हैं। 

कृषि मंत्री बादल ने कहा कि बीज के वितरण में किसी भी प्रकार की अनियमितता न हो इसलिए सभी जनप्रतिनिधियों के माध्यम से बीज वितरण कराया जायेगा। साथ ही बीजों के कालाबाजारी को रोकने के लिए लगातार मॉनिटरिंग की जाएगी।

मंत्री बादल ने इस मौके पर विभागीय सचिव, निदेशक और किसानों को पौधा देकर ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण के लिये प्रोत्साहित किया और विश्व पर्यावरण दिवस की शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में राज्य के 10 किसानों के बीच सांकेतिक रूप से बीज वितरित किए गए। 

बीज वितरण की जानकारी देते हुए विभागीय सचिव अबू बकर सिद्दीक ने बताया कि मौसम विभाग के मुताबिक इस वर्ष अच्छी बारिश की संभावना है इसके लिए विभाग की ओर से किसानों को समय से पूर्व बीज अनुदानित दर से उपलब्ध कराए जा रहे हैं। कृषि निदेशक निशा उरांव ने बताया कि समय से पहले ही 44 हजार क्विंटल बीज का ऑर्डर दिया गया था जिसमें से 24 हजार क्विंटल बीज सप्लाई हो चुका है। उन्होंने बताया कि जल्द ही किसानों को इंपॉर्टेट यूरिया दिया जाएगा ताकि कृषि उत्पादों में गुणवत्ता लाई जा सके।

इस अवसर पर मत्स्य निदेशक डॉक्टर एच. एन. द्विवेदी, समिति निदेशक सुभाष सिंह, जिला कृषि पदाधिकारी विकास कुमार सहित कई गणमान्य उपस्थित थे।

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read