गुमला ज़िला झारखंड के डुमरी थाना क्षेत्र में टीकाकरण टीम के साथ दुर्व्यवहार और बंधक बनाने के मामले में तीन आरोपियों सवर्ण खाखा, सेराफिनुस खाखा और सुरेश कुजूर को बुधवार की रात पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

इन पर आरोप है कि 7 जून को डुमरी की करनी पंचायत के बिरगांव पकरीटोली ग्राम में सोमवार को टीकाकरण करने गई महिला कर्मियों को एक घंटे तक बंधक बनाकर रखा था। टीम को न सिर्फ टीकाकरण करने से रोका बल्कि रजिस्टर छीन लिया था।

सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर जाकर महिला कर्मियों को मुक्त कराया। एएनएम माया कुमारी सिन्हा ने बताया कि हमलोग सुबह टीकाकरण के लिए गए थे। एएनएम ने बताया कि “11 लोगों को टीका दे चुके थे। इसी दौरान गांव के ही सवर्ण खाखा, सेराफिनुस खाखा एवं सुरेश कुजूर नशे की हालत में पहुंचे और पूछा की कितने लोगों का टीका हो गया है।”

“आरोपियों ने हमारा हाथ पकड़कर कागज और रजिस्टर छीन लिया। सभी सहिया व सेविका के मुंह से मास्क भी खींच लिया। वहीं, डीलर के साथ भी दुर्व्यवहार किया। इसके बाद जब हमलोग वैक्सिनेशन बंद कर वहां से आने लगे तो हम सभी को बंधक बना कर रोक लिया। एक व्यक्ति मौके से बाथरूम का बहाना कर जंगल की ओर निकला, जहां से डुमरी पुलिस को सूचना दी।”

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read