आज कैबिनेट द्वारा गन्ना किसानों के लिए गन्ने का FRP मूल्य अब तक का उच्चतम ₹290 प्रति क्विंटल करने के निर्णय लिया गया ।

ए निर्णय एफआरपी का निर्धारण कृषि लागत और मूल्य आयोग (सीएसीपी) की सिफारिशों के आधार पर और राज्य सरकारों एवं अन्य हितधारकों के परामर्श के बाद किया गया है।

स्वीकृत एफआरपी चीनी मिलों द्वारा चीनी सीजन 2021-22 (1 अक्टूबर, 2021 से प्रारंभ) में किसानों से गन्ने की खरीद के लिए लागू होगी। चीनी क्षेत्र एक महत्वपूर्ण कृषि-आधारित क्षेत्र है जो कृषि श्रम और परिवहन सहित विभिन्न सहायक गतिविधियों में कार्यरत लोगों के अलावा लगभग 5 करोड़ गन्ना किसानों और उनके आश्रितों एवं चीनी मिलों में सीधे कार्यरत लगभग 5 लाख श्रमिकों की आजीविका से जुड़ा है। 

इस संदर्भ पर कई किसान नेता गृह मंत्री अमित शाह द्वार विचार का समर्थन करते हुए कहा कि 

 “इसमें कोई शक नही की उत्तर प्रदेश में चुनाव के पहले लिया गया निर्णय किसानों को खुशहाल व सशक्त बनाने का प्रयास है ।जो भी हो आज  कैबिनेट द्वारा गन्ना किसानों के लिए गन्ने का FRP मूल्य अब तक का उच्चतम ₹290 प्रति क्विंटल करने के निर्णय पर कई राजनीतिक किसान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया है ।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read