With pilot of the chopper not ready to fly,Governor Syed Ahmed today cancelled his visit to Daltongunj in Palamau.

In fact,Ahmad was keen to go to Palamau.As such when he learnt that the pilot had declined to fly,Governor reportedly expressed his desire to take the road route to reach there.But the Raj Bhawan officials dissuaded him to do so on the ground of bad road condition, Naxal menace and inclement weather.

“All programmes related with him were cancelled”,said Palamau SP Narendra Kumar Singh.

Governor Ahmed was slated to inaugurate online a number of projects worth Rs 263.77 crore at the Police stadium in Daltongunj.He was also supposed to lay foundation stone of projects worth Rs 1239.35 crore.

Having cancelled his trip to Palamau,Governor Ahmad addressed its people through telecommunication system.

A press release issued by public relations department in Hindi said as follows:

माननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने पलामू की जनता को दूरसंचार के माध्यम से सम्बोधित करते हुए कहा कि पलामू का गौरवमयी इतिहास रहा है। स्वाधीनता आन्दोलन में यहां के वीर सपूतों ने महती भूमिका अदा की है। उन्होेंने कहा कि सभी को बेहतर एवं संवेदनषील प्रषासन मिले, राज्य के विकास की गति में तेजी आये, इसके लिए वे पूर्णत: प्रयासरत हैं। विदित हो कि माननीय राज्यपाल महोदय आज पलामू जाने वाले थे और वहाँ जिले में विकास को गति देने के उद्देष्य से लगभग 1 अरब 11 करोड़ की लागत से 08 योजनाओं को षिलान्यास एवं 03 योजनाओं का उदघाटन करना था। राज्यपाल महोदय का पलामू में वहाँ के पदाधिकारियों के साथ जिले के विकास योजनाओं एवं विधि-व्यवस्था की समीक्षा करने का भी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम था, लेकिन मौसम की प्रतिकूलता के कारण पलामू नहीं जा सके।

अत: पलामू की जनता को उन्होंने राजभवन से दूरसंचार के माध्यम से सम्बोधित किया।
राज्यपाल महोदय ने कहा कि सभी प्रषासनिक व पुलिस पदाधिकारी सबकी बात को सुने, गरीबों को नजरअंदाज न करें व उनकी षिकायत के निदान हेतु उचित कदम उठायें। सभी पदाधिकारीकर्मी अपना कार्य पूरी मुस्तैदी से करें, समय पर कार्यालय आयें तथा जनहित के लिए निरंतर प्रयासरत रहें। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्र सुचारू रूप से संचालित हों, ताकि लोगों को इस योजना का भरपूर लाभ मिल सके। डाक्टर अस्पताल में मौजूद रहें, अस्पताल में जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएँ यथा- दवा व जाँच उपकरण सुलभ रहे।

माननीय राज्यपाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि जन-वितरण प्रणाली, अन्नपूर्णा योजना, अन्त्योदय अन्न योजना का लाभ निमित व्यकित को समय पर मिले, इसे जिला प्रषासन सुनिषिचत करें। साथ ही वृद्धावस्था पेंषन, विकलांगता पेंषन व विधवा पेंषन आदि का लाभ भी सही व्यकित को समय पर हर हाल में मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पलामू के मजदूर रोजगार की तलाष में पलायन करते हैं, जबकि मनरेगा जैसी बेहतर योजना के जरिये उन्हें घर में ही रोजगार सुलभ हो सकता है। पलायन की एक महत्वपूर्ण वजह लोगों का इस योजना से पूरी तरह से अवगत न होना भी है। अत: जिला प्रषासन लोगों को इस योजना के लाभ से अवगत करायें।

उन्होंने लोगों को शुद्ध पेयजल सुलभ कराने के लिए समब्द्ध विभाग के पदाधिकारियों से कहा कि खराब चापानल की अविलम्ब मरम्मति हो एवं डीप बोरिंग होनी चाहिए, ताकि हर मौसम में उससे पानी प्राप्त हो। पाइप के जरिये भी नियमित रूप से पानी मुहैया कराया जाय। उन्होंने वाटर लेवल को ठीक रखने के लिए वर्षा जल संचयन प्रणाली को अधिक से अधिक अपनाने पर बल दिया।

राज्यपाल महोदय ने जनता से कहा कि विकास के लिए अमन व सदभाव का वातावरण होना जरूरी है। हिंसा से किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता है, लोग आपस में झगड़ कर, आवेष में आकर अथवा तनाव में गलत कदम उठा लेते हैं और हिंसा कर बैठते हैं, यह कदाचित उचित नहीं है। इस पर अंकुष हेतु पुलिस महकमा के साथ-साथ नागरिकगण का भी सहयोग बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि थाने में कोर्इ भी व्यकित एफ.आर्इ.आर. दर्ज कराने जाये तो उसकी षिकायत को अविलम्ब दर्ज करते हुए उस दिषा में अग्रेŸà¤¾à¤° कार्रवार्इ की जाय। विधि-व्यवस्था को बेहतर बनायें, महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा पर विषेष ध्यान दें। किसी प्रकार की शर्मनाक घटना न हो, इस हेतु षिक्षण संस्थान, नागरिकगण भी सहयोग करें और समाज को सभ्य बनाये रखें।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read