For the first time Jharkhand Governor Syed Ahmad participated in the Governor’s conferance at the Rashtrapati Bhawan.And for the first time,he used the indegenous word-JOHAR-to greet his counterparts and the President Pranab Mukherjee.

Governor Ahmad delivered his speech in Hindi.Following is the text of his speech:

1.जोहार झारखण्ड में अभिवादन का पारम्परिक शब्द है। देष के सबसे नये राज्य झारखण्ड के 32000 गावों और 150 शहरी क्षेत्रों में निवास करनेवाली लगभग 3 करोड़ जनता की ओर से आप सभी का मैं हार्दिक अभिनन्दन करता हूँ, शुभकामनायें देता हूँ। मैं विषेष रूप से महामहिम राष्ट्रपति महोदय का आभार प्रकट करता हूँ कि उन्होंने मुझे इस महती सभा में अपने विचार प्रकट करने का अवसर प्रदान किया।
2. 12 वर्ष पूर्व असितत्व में आया झारखण्ड अनन्त संभावनाओं का प्रदेष है लेकिन कतिपय कारणों से अब तक इन संभावनाओं को मूर्Ÿà¤¾ रूप प्रदान नहीं किया जा सका है। अपार खनिज सम्पदा, प्राÑतिक सौन्दर्य एवं मानव क्षमताओं से यह राज्य परिपूर्ण है, फिर भी कर्इ क्षेत्रों में यह राष्ट्रीय औसत से पीछे है। विडम्बना यह है कि कोयला भंडार का 30 प्रतिषत हिस्सा झारखण्ड में है, फिर भी यहां प्रति व्यकित विधुत खपत 670 इकार्इयों के राष्ट्रीय औसत की तुलना में आधे से भी कम है।
3. स्थापना काल से ही झारखण्ड राज्य के विकास में राजनीतिक असिथरता एवं वामपंथी उग्रवाद बाधक रहा है। महामहिम जी, विगत 2011 में आयोजित राज्यपालों के सम्मेलन के पश्चात झारखण्ड ने एक निर्वाचित सरकार और 18 जनवरी 2013 से तीसरी बार राज्य में राष्ट्रपति शासन देखा। स्पष्ट है कि इस असिथरता से शासन एवं प्रषासन की गुणवŸà¤¾à¤¾ विपरीत रूप से प्रभावित हुर्इ है।

4. आदरणीय महामहिम, हमारे लोकतंत्र में दबाव एवं बल प्रयोग का कोर्इ स्थान नहीं है, बलिक यह विकास, विकेन्द्रीकरण, सहिष्णुता एवं अनेकता में एकता के सिद्धांतों पर आधारित है। प्रजातंत्र संवाद, समझौता एवं संस्थानों के सिद्धांत पर आधारित है। इस प्रकार वे लोग जो वर्तमान प्रणाली से असंतुष्ट हैं, उन्हें लोकतांत्रिक प्रणाली के माध्यम से राजनीतिक गतिविधि में भाग लेना चाहिए। हमारी सरकार इनके विपरीत विचार रखनेवाले लोगों की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार एवं इच्छुक है। हम बंदूकों, आतंक एवं झूठ का सहारा लेकर आम हित के कार्यों को प्रभावित करने के प्रयास सफल नहीं होने देंगे एवं जहाँ एक ओर सुरक्षाबलों को और मजबूत बनाकर तथा उन्हें उत्Ñष्ट प्रषिक्षण प्रदान कर ऐसे तत्वों का पूरी ढृढ़ता एवं शकित से सामना करेंगे और साथ ही साथ ऐसे तत्वों को प्रोत्साहन देने वाले मूल कारकों के संबंध में शासन की सेवा प्रदान करने की क्षमता, गति एवं गुणवŸà¤¾à¤¾ में सुधार, विकास योजनाओं की कार्यान्वयन व्यवस्थाओं तथा पेसा आधारित पंचायती राज व्यवस्था जैसे सषक्तीकरण कार्यक्रमों के माध्यम से कार्रवार्इ भी करेंगे।

5. हमारी सरकार बेहतर विधि-व्यवस्था के प्रति अत्यंत गंभीर है। राज्य में स्वच्छ वातावरण, कानून का शासन रहे तथा विवादों का बेहतर तरीके से समाधान हो, इस हेतु Ñत संकल्प है। इस क्रम में आपराधिक तत्वों के विरूद्ध कठोर कार्रवार्इ की जा रही है, विधि-व्यवस्था तंत्र को और सक्रिय कर व्यवसिथत वातावरण स्थापित करके हमने अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की है। किसी भी प्रकार की क

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read