*All images by IPRD

आदि शक्ति मां दुर्गा के नव दिवसीय उपासना पर्व की नवमी पर आज राज्य के मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने जमशेदपुर के भालूबासा स्थित शीतला मंदिर में 501 कन्याओं की आराधना की। मुख्यमंत्री ने सपत्नीक पूरे श्रद्धा भाव से कन्याओं का पूजन अर्चन कर उन्हें भोजन कराया और भोजन उपरांत उनका हस्त प्रक्षालन कराकर स्वयं पात्रों को उठाकर विसर्जित किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कन्या पूजन की सार्थकता इसी में है कि देश की हर बेटी चाहे वो सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र की हो या शहरी क्षेत्र में; हर बच्ची को पढ़ने का अधिकार मिले। बेटी पढ़ेगी तो अपने संस्कारों से पूरे समाज को संस्कारित करने का काम करेगी और उसके ज्ञानदीप से पूरा कुटुंब और समाज आलोकित होगा। इसी निमित्त हमने संस्कृति और परंपराओं का निर्वहन करते हुए 500 से अधिक कन्याओं को भोजन करवाया है और उनसे आशीर्वाद लिया कि जगत जननी मां दुर्गे इतनी शक्ति दें की राज्य की सवा तीन करोड़ जनता की सेवा में पूरी लगन और अथक परिश्रम के साथ संलग्न रहते हुए झारखंड में सुख समृद्धि और शांति की अविरल गंगा प्रवाहित हो।

 

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

मुख्यमंत्री ने कहा कि कन्या पूजन सदियों से हमारी सांस्कृतिक परम्परा रही है और हमारे वेद और शास्त्रों में भी नारी की पूजा की बात कही गई है। अपनी संस्कृति को अक्षुण्ण रखते हुए हमें समाज में नारी को अधिक से अधिक आगे बढ़ाने के लिए सभी को मिलजुल कर काम करना होगा। देश के प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का आह्वान देशवासी वासियों से किया जिससे कि नारी शक्ति का सम्मान हो और देश की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए सभी देशवासी मिलकर काम करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने संसद में अध्यादेश लाकर महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए भी कड़े कानून बनाए हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भी राज्य की उन्नति और तरक्की में महिलाओं की महती भूमिका रहेगी और हमारी सरकार महिलाओं के आर्थिक-सामाजिक सशक्तिकरण की दिशा में निरंतर पूरे समर्पण भाव के साथ काम करेगी।
 

must read