A day after taking charge as chief secretary RS Sharma today held a meeting with the heads of departments/secretaries/principal secretaries and asked them to improve the work culture.

“This can streamline delivery mechanism and ensure that more and more people can benifit from the government projects and schemes”,said Sharma.

The public relations department circulated a press release giving details of the meeting.The details are as follows:

मुख्य सचिव श्री आर0एस0षर्मा ने विभागीय सचिवों से कहा कि विभागीय कार्यसंस्Ñति में व्यापक सुधार करें। इससे डिलीवरी मेकेनिज्म दुरूस्त होगा साथ ही विभागीय कार्यक्रमोंयोजनाओं से अधिकाधिक लोग लाभानिवत हो सकेंगें। उन्होंने कहा कि माइक्रो एवं मैक्रो लेवेल पर हर विभाग के लिए मानीटरिंग सिस्टम को मजबूत करें। बेहतर गर्वनेंस के लिए जरूरी है कि विभागीय तौर पर कार्यप्रणाली की समीक्षा कर ऐसा तंत्र विकसित हो जिससे विभागीय उíेष्यों की प्रापित हर हाल में विभागीय एजेन्डे की प्राथमिकता सूची में रहे। इसके लिए हरेक स्तर पर स्वमूल्यांकन एवं आत्मविष्लेषण आवष्यक है। वे आज प्रोजेक्ट बिलिडंग सिथत अपने सभा-कक्ष में विभागीय सचिवों को सम्बोधित कर रहे थे।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

गुड गर्वेनेंस के लिए बेहतर मानव संसाधान के प्रबंधन को जरूरी बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारा काम राज्य सरकार की नीतियों का कार्यान्वयन है। अतएव विभागीय उíेष्यों को ध्यान में रखकर व्यावहारिक रणनीति के जरिए निर्धारित लक्ष्य प्राप्त किए जाएँ। मात्र वित्तीय शक्रियों का प्रत्यायोजन ही नहीं बलिक जिम्मेवारियों का प्रत्यायोजन भी वस्तुनिष्ठ तरीके से होना चाहिए। कार्य प्रणाली में यदि कहीं व्यवधान हों तो उन्हें दूर किया जाना चाहिए एवं समीक्षा करते वä मात्र भौतिक वित्तीय लक्ष्यों के आँकड़ें ही नहीं बलिक वास्तविक उíेष्य की प्रापित की भी गुणवत्तापूर्ण समीक्षा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जनोन्मुखी योजनाओं का कार्यान्वयन इस प्रकार से हो कि लाभुकों को भी यह महसूस हो कि सरकार उनके लिए प्रयत्नषील है। इसके अलावा लाभुकों, लक्षित समुदाओं से फीडबैकषिकायत प्राप्त करने की प्रणाली विकसित करें एवं तदनुरूप कार्यान्वयन सुनिषिचत करें। आम जनों की षिकायतों के निवारण को भी उन्होंने गुडगर्वेनेंस के लिए आवष्यक बताया जिसकी सतत मानीटिरिंग होनी चाहिए। उन्होंने एक-एक कर सभी विभागों के प्रधान सचिवोंसचिवों से कार्यों में आने वाले व्यवधानों की जानकारी प्राप्त की।
उä बैठक में विकास आयुä श्री ए0के0सरकार, सदस्य राजस्व पर्षद श्री विनय अग्रवाल, प्रधान सचिव गृह विभाग श्री जे0बी0 तुबिद, प्रधान सचिव उधोग श्री ए0पी0 सिंह, प्रधान सचिव वित्त श्री सुखदेव सिंह, प्रधान सचिव पथ निर्माण विभाग श्रीमती राजबाला वर्मा, प्रधान सचिव मानव संसाधन विकास विभाग डा डी0के0तिवारी सहित सभी विभागों के प्रधान सचिवसचिव मौजूद थे।

must read