Governor’s Advisor Madhukar Gupta today stressed the need to monitor the works being carried out under Mahatama Gandhi National Rural Employment Guarantee Act on a regular basis in Jharkhand.

In a press release issued by the public relations department in Hindi said as follows:

महामहिम राज्यपाल के सलाहकार श्री मधुकर गुप्ता ने कहा कि मनरेगा के तहत हो रहे कार्यों एवं भुगतान की लगातार मानीटरिंग होनी चाहिए। विभाग को एम0आर्इ0एस0 पर प्राप्त सूचनाओं पर ही नहीं अपितु कार्यस्थल पर की वास्तविक सिथति का स्वयं आकलन करना चाहिए। मनरेगा के तहत किए जा रहे कार्य की गुणवत्ता उसकी प्रÑति एवं उसका प्रतिफल भी विचारणीय बिन्दु हैं। कार्य का दीर्घकालिक लाभ स्पष्ट रूप से लोगों को मिलना चाहिए। श्री गुप्ता आज प्रोजेक्ट बिलिडंग सिथत अपने कार्यालय कक्ष में ग्रामीण विकास से सम्बनिधत बैठक को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर कर्इ विभागों के द्वारा अपने-अपने स्तर से एक समान कार्य जैसे मनरेगा, ग्रामीण विकास, जल संसाधन, Ñषि, तलाब गहरीकरण इत्यादि कार्य कराए जाते हैं। पंचायत स्तर पर इनके कार्यों पर भी विचार होने चाहिए। इन कार्यों में स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा फेसिलिटेटर के रूप में कार्य लिया जा सकता है। जल से सम्बंधित सभी योजनाओं पर विस्तृत प्रतिवेदन जिसमें कूपों, तलाबों का निर्माण, गहरीकरण, वृक्षरोपण इत्यादि इनके माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है।

विभिन्न विभागों के बीच कन्वर्जेन्स पर विस्तृत कार्ययोजना हेतु एक कार्यशाला के शीघ्र आयोजन का निदेष देते हुए उन्होंने कहा कि इसमें स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी शरीक किया जाए।
उä बैठक में प्रधान सचिव ग्रामीण विकास विभाग श्री आर0एस0पोददार, सचिव जल संसाधन श्री एस0के0सत्पथी, सचिव Ñषि श्री ए0के0 सिंह तथा मनरेगा आयुä श्री अरूण उपसिथत थे।

--------------------------Advertisement--------------------------Old Pension Scheme

must read