The Banks have to play an important role in the development of the nation.”By linking themselves with the poor to uplift them economically,these banks have to play a crucial role”,said Governor Syed Ahmad.

He was addressing the 43rd State Level Bankers’ Samiti meeting today at Hotel Raddison Blu in Ranchi.

A press release issued by the public relations department in Hindi said as follows:

महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कहा है कि किसी भी राष्ट्र के विकास में बैंक की महŸà¤µà¤ªà¥‚र्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि बैंकों को गरीबों से जुड़कर उनकी आर्थिक सिथति में सुधार लाने की दिषा में अपनी महती भूमिका का निर्वहन करना होगा, इस हेतु बैंकों को राज्य के गरीबों तक स्वयं स्वविवेक व कर्Ÿà¤¾à¤µà¥à¤¯ की भावना से पहुँचना होगा। उक्त बातें महामहिम राज्यपाल ने आज होटल रेडिसन ब्लू में आयोजित 43वें राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति के कार्यक्रम में कही। इस अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव श्री आर.एस. शर्मा, विकास आयुक्त श्री ए0के0 सरकार तथा सरकार के वरीय पदाधिकारीगण के साथ-साथ विभिन्न बैंकों, नबार्ड एवं आर.बी.आर्इ. के प्रतिनिधिगण उपसिथत थे।

--------------------------Advertisement--------------------------1000 days of Hemant Govt

महामहिम राज्यपाल ने कहा कि बैंक ऋण देने में भी यथोचित उदारता अपनायें। ग्रामीण विकास, कृषि में भी आज के विकासषील भारत में बैंकों की भूमिका बहुत महŸवपूर्ण है। बैंक जितना सक्रिय होगा, विकास की गति उतनी ही तेज होगी। अत: इसे सामाजिक क्षेत्र में अधिक से अधिक कार्य करने हेतु तत्परता प्रदर्षित करनी होगी। बैंक षिक्षा ऋण सुलभ कराने की दिषा में कार्य कर रही है, लेकिन इस दिषा में और प्रयास किये जाने की जरूरत है ताकि कोर्इ भी मेधावी विधार्थी अर्थाभाव में षिक्षा ग्रहण करने से वंचित न रहे।

राज्यपाल महोदय ने कहा कि बैंक चिट फण्ड पर नियंत्रण व अंकुष लगाने का कार्य करें तथा लोगों को ठगी के षिकार होने से बचायें, बैंक इस दिषा में अपना नेटवर्क व्यापक करें। उन्होंने क्रेडिट डिपोजिट रेषियो में वृद्धि (खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में) लाने पर बल दिया।

इस अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव श्री आर.एस. शर्मा ने कहा कि हमारे राज्य को धनी माना जाता है, परंतु यहाँ के लोग गरीब हैं। अत: उन्हें बैंकों की सहायता की आवष्यकता है। उन्होंने कहा कि बैंक अपने दृषिटकोण एवं सोच में बदलाव लाये ताकि अधिक-से-अधिक गरीब व्यकित बैंक से जुड़ सके। उन्होंने इस हेतु व्यापक कार्यक्रम चलाने हेतु भी कहा।

आरम्भ में बैंक आफ इंडिया के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेषक श्रीमती वी.आर. अय्यर ने स्वागत भाषण किया।

must read