Representational Pic

G Gollu Kumar Choudhary was ill.Since he lacked cash to get himself treated,he wrote a letter to Governor Syed Ahmad seeking financial help.He handed him over Rs 15,000.

Choudhary is not a strange case.

Like him were more than a dozen beneficiaries of his munificence.

Sample them.

Sarfarz Ansari,who had sought help for his daughter’s studies,Santosh Mirdha,who wanted money to undergo operation,Ram Thakur,who needed cash for his daughter’s marriage and Mohhamed Israel,who sought cash for treatment of cancer,received Rs 5,000,Rs 20,000,Rs 10,000 and Rs 20,000 given by him.

A press release issued by the public relations department in Hindi today said as follows:

महामहिम राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने कहा कि उनका प्रयास रहता है कि अर्थाभाव के कारण किसी भी गरीबमज़लूम को परेषानी न होए अतरू उनके स्तर से जो भी सहायता की जा सकती हैए वे देते हैंए भले ही वह राषि अल्प ही क्यों न हो। उक्त बातें महामहिम राज्यपाल ने आज राजभवन के दरबार हाल में आयोजित एक सादे समारोह में अपने विवेकाधीन अनुदान मद से राषि ;चेकद्ध का वितरण करने के अवसर पर कही। इस अवसर पर राज्यपाल के प्रधान सचिव श्री एनण्एनण् सिन्हा भी मौजूद थे।
महामहिम राज्यपाल ने कहा कि उनके पास मदद करने हेतु लोगों द्वारा आवेदन दिया जाता है। उनके द्वारा इन आवेदनों पर विचार करने हेतु कहा जाता है तथा पूर्ण सत्यापन करने के बाद उनके द्वारा निर्णय लिया जाता है। वे सामाचरपत्रमीडिया में भी आर्इ इस प्रकार के खबरों पर संज्ञान लेते हैं। उनकी शुरू से ही कोषिष रही है कि उनसे मानवीय भावना के तहत जो भी यथोचित मदद की जा सकती हैए वे करें। इस क्रम में उनके द्वारा गरीबोंनिरूसहायोंए जो मदद के बिना पढ़ार्इ करने में असक्षम हैंए पढ़ार्इ हेतु राषि दी गर्इ है ताकि सहायता के साथ.साथ उनकी हौसलाअफजार्इ भी हो। गंभीर रूप से बीमार लोगों को चिकित्सा सेवा हेतु राषि दी गर्इ है। साथ ही उन्होंने साहित्यकारों को भी प्रोत्साहित करने के उद्देष्य से उन्हें चेक प्रदान की है।
इस अवसर पर महामहिम ने राज्य के नागरिकों से भी कहा कि यदि वे किसी की किसी प्रकार की मदद करने में सक्षम हैं तो जरूर मदद करेंए उनके मदद से किसी की जान बच सकती है। कोर्इ होनहार बच्चा पढ़ार्इ कर गौरवानिवत कर सकता है। उन्हें उनकी दुआ तो प्राप्त होगी ही साथ ही स्वयं पर गर्व होगा कि उन्होंने अच्छा कार्य किया है। राज्यपाल महोदय ने इस अवसर पर सभी व्यकितयों से नेक कार्य करने की सलाह दी। नेकी से सुकून प्राप्त होता है।
इस अवसर पर राज्यपाल महोदय ने श्री गोलू कुमार चौधरी ;र्इलाज हेतु. 15 हजारद्धए श्री अजीत मिंज ;र्इलाज हेतु. 20 हजारद्धए मो0 शरफराज अंसारी ;पुत्रियों की षिक्षा हेतु. 5 हजारद्धए श्री संतोष मिरधा ;कान के आपरेषन हेतु. 20 हजारद्धए श्री राम ठाकुर ;पुत्री की शादी हेतु. 10 हजारद्धए मो0 इसरार्इल ;पुत्री की चिकित्सा हेतु. 20 हजारद्धए मो0 सरफूददीन ;कैंसर के र्इलाज हेतु. 20 हजारद्धए श्री दिनेष सिंह ;पुत्री की शादी हेतु. 10 हजारद्धए श्री गिरधारी राम गंझू ;साहित्यकार.15 हजारद्धए श्री रतन वर्मा ;साहित्यकार. 15 हजारद्धए मो0 नसीर अफसर ;साहित्यकार. 15 हजारद्धए मो0 हसन मूसन्ना ;साहित्यकार. 15 हजारद्धए मो0 एनामुल्ला ;रक्त कैंसर के इलाज हेतु. 40 हजारद्धए श्रीमती समीमा खातून ;साहित्य के क्षेत्र में प्रोत्साहन हेतु. 25 हजारद्ध एवं मो0 अतीकूर रहमान ;पुत्र के आँख की चिकित्सा हेतु. 20 हजारद्ध को अपने विवेकाधीन मद से राषि प्रदान की। मंच संचालन श्री राजीव रंजन मिश्र ने किया।

--------------------------Advertisement--------------------------Old Pension Scheme

must read