Pic.Jharkhand CS RS Sharma

Jharkhand Chief Secretary RS Sharma has directed the department of land registration to ensure that Aadhar card was used in the every sale and purchase of land with effect from January 1,2014.

“This is necessary to ensure transparency in the sale and purchase of land in the state”,said Sharma.

A press release issued by the public relations department in Hindi said as follows:

एक जनवरी 2014 से झारखण्ड राज्य में जमीन की खरीद बिक्री करने पर आधार कार्ड दिखाना अनिवार्य होगा। मुख्य सचिव श्री आर0एस0षर्मा ने बताया कि जमीनों की खरीद बिक्री में पारदर्षिता रखने के उíेष्य से यह निर्णय लिया गया है।
श्री शर्मा ने कहा कि निबंधन विभाग को यह आदेष दिया गया है कि अब से राज्य के अधीन जो भी निबंधन हो उसमें आधार कार्ड पहचान के रूप में अनिवार्य किया जाए। फिलहाल गवाहों अथवा अन्य पहचान के आधार पर निबंधन किया जाए तथा आधार कार्ड नहीं रहने पर भी अन्य दस्तावेज के आधार पर निबंधन किया जाए लेकिन 01 जनवरी 2014 के बाद आधार ही पहचान का प्रमाण माना जाएगा।
लेकिन उन्होंने कहा कि जमीन अथवा अन्य सम्पत्ति अथवा दस्तावेज निबंधन कराने वाले लोगों के साथ.साथ गवाहों को भी आधार कार्ड पहचान के रूप देना अनिवार्य होगा। वर्तमान व्यवस्था में गवाहों के आधार पर अथवा अन्य प्रमाण पत्र के आधार पर निबंधन की व्यवस्था है कर्इ उदाहरण आए है कि जमीन की खरीद बिक्री कागजातों एवे अन्य सबूतों के आधार एक ही सम्पत्ति का दो.दो बार निबंधन हो जाता है। जिसके फलस्वरूप लोगों को कठिनार्इ होती है।
मुख्य सचिव ने कहा कि आधार आधारित निबंधन होने में जमीन की खरीद बिक्री में डुपिलकेसी नही होगी तथा खरीदने वाले तथा बिक्री करने वाले की भी पहचान स्थापित रहेगी। जिसे आमजन को इससे लाभ पहुँचेगा।

--------------------------Advertisement--------------------------1000 days of Hemant Govt

must read