For the first time since it was created in 2000,Jharkhand government has appointed 455 secretariat assistants.Governor Syed Ahmad today gave them appointment letters.

A press release issued by the public relations department in Hindi said as follows:

माननीय राज्यपाल डा0 सैयद अहमद ने आज à¤†à¤°à¥à¤¯à¤­Í à¤¸à¤­à¤¾à¤—à¤¾à¤° में सचिवालय सहायकों के मध्य नियुकित-पत्र वितरण समारोह में कहा कि सभी अपने कार्य पूरी निष्ठा व र्इमानदारी से करें और राज्य के विकास में सहभागी बनें। उन्होंने कहा कि सभी समय पर कार्यालय आयें एवं समयबद्ध कार्य करें। उन्होंने कहा कि यदि आप आत्मसंतुषिट की भावना के तहत कार्य करेंगे तो बेहतर कार्य होगा। राज्यपाल महोदय ने उक्त अवसर पर सहायकगणों से कहा कि कोर्इ भी अनैतिक कार्य न करें, धनी बनने की चाहत में गलत काम करनेवाले व्यकितयों के साथ-साथ उनके परिवार के सदस्यों को भी शर्मीन्दगी और अन्य प्रकार की परेषानी का सामना करना पड़ता है।

राज्यपाल महोदय ने कहा कि जिस प्रकार आप अपने व्यकितगत कार्य को पूरी निष्ठा व समर्पण के साथ करते हैं, उतनी ही निष्ठा के साथ सरकारी कार्य को भी करें। ऐसा करने से यकीनन कार्य बेहतर होगा, धरातल पर दिखेगा और राज्य की तरक्की होगी।

इस अवसर पर राज्यपाल के सलाहकार श्री मधुकर गुप्ता ने कहा कि कर्मचारियों की कमी का सीधा प्रभाव प्रषासन एवं विकास पर पड़ता है। विभाग की कार्यक्षमता भी प्रभावित होती है। उन्होंने कहा कि आप सभी पूरी क्षमता, र्इमानदारी एवं निष्ठा से कार्य कर स्वच्छ प्रषासन देने में अपनी भूमिका का निर्वाह करें।

इस अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव श्री आर.एस. शर्मा ने कहा कि आप सभी नर्इ पीढ़ी के युवा हैं। नये जमाने की नर्इ तकनीक के साथ अपने कार्य को अंजाम दें। अपने कार्य से, व्यवहार से अपने कैडर की छवि को और बेहतर बनायें, यह सामूहिक प्रयास से ही संभव है।

राज्यपाल के प्रधान सचिव श्री एन.एन. सिन्हा ने कहा कि आप सभी टेक्नो फ्रेण्डली बने। अब आने वाला समय नर्इ तकनीक का ही होगा। कलम-कागज का न्यूनतम इस्तमाल होगा।

इस अवसर पर कार्मिक सचिव श्री आदित्य स्वरूप ने कहा कि राज्य गठन के बाद पहली बार 455 व्यकितयों को सचिवालय सहायक के रूप में नियुकित पत्र दी जा रही है। उन्होंने कहा कि 4 सप्ताह का विभागीय प्रषिक्षण एवं 2 सप्ताह का संस्थागत प्रषिक्षण इन्हें दी जायेगी।

-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga

must read