भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद की 133 वीं जयंती के अवसर पर मार्निग ग्रूप पंचायत के अंतर्गत अबुल कलाम आजाद बैडमिंटन टूर्नामेंट का जीईएल चर्च कॉम्प्लेक्स में गुरुवार को शुभारंभ हुआ। 

इसका फाइनल झारखंड की सथापना दिवस की पूर्व संध्या और भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की जयंती के शुभ अवसर पर खेला जाएगा।इस टूर्नामेंट के उद्घाटन समारोह में झारखण्ड के दिग्गज फुटबालर मो सिराजुद्दीन, शिक्षाविद और वयोवृद्ध वकील मोहसिन अख्तर (अमान भाई),मौलाना तहजीबुल हसन बतौर मुख्य अतिथी उपस्थित थे।

इन्हें शाॅल ओढ़ाकर मार्निग ग्रूप पंचायत के मुख्य सरंक्षक हाजी हलीम उद्दीन,सरंक्षक अकील उर रहमान और अबदुल मन्नान ने सम्मानित किया।इस अवसर पर हाजी हलीम उद्दीन ने भारत के नवनिर्माण में मौलाना आजाद का योगदान की चर्चा की।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

उन्होंने मौलाना आजाद को आधुनिक शिक्षा का निर्माता बताया और कहा कि सदियों में एक आध ही मौलाना जैसे युगपुरुष पैदा होते हैं।जब भी इतिहास में स्वतंत्र भारत की चर्चा होगी ,मौलाना आजाद को याद किया जाएगा।अकील उर रहमान ने कहा कि मौलाना आजाद की याद में हर साल खेल का आयोजन होता रहेगा।भारत में शिक्षा के प्रचार-प्रसार में मौलाना आजाद की महत्वपूर्ण भूमिका की चर्चा हमेशा होगी।टूर्नामेंट के पहले दिन पांच मैच खेले गए। 

उद्घाटन मैच में मिमशाद और अब्दुल खालिक की जोड़ी ने मो मीर और मोहम्मद शाहिद को 21-11,21-10 से पराजित किया।अन्य मैचों में प्रिंस हसन और प्रवेज ने शरफुद्दीन औ निशात पप्पु को 24-22,21-17 से,शमीम मुजीबी और नफीस अख्तर ने अबु सुफियान और अब्दुल रहमान को 21-19,17-21,21-18 से,कफील खान और एजाज आलम ने अबु सुफियान और अब्दुल रहमान को 14-21,21-15,21-13 से ,जबकि डाक्टर शेरान अली और मुस्तकीम आलम की जोड़ी ने मो कमाल और निहाल अहमद को 21-14,21-9 से सीधे सेटों में पराजित किया।

इस उद्घाटन समारोह के अवसर पर नेजाम अली,नसीम अख्तर, असफर,कारी तौहीद वगैरह मौजू थे।

must read