*संविधान दिवस समारोह के दौरान दीप प्रज्जवलित करते अतिथि

सबसे पहले जानिए सच्चाई।

*जनभागीदारी के साथ संविधान दिवस कार्यक्रम में एनपीयू के वीसी ने की घोषणा

*प्रस्तावना संविधान की मूल आत्मा है: उपायुक्त, पलामू

*जनभागीदारी से जन-जन तक पहुंचेगा संविधान का संदेश: उप विकास आयुक्त

*आजादी के अमृत महोत्सव के तहत क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो डाल्टनगंज के तत्वावधान में मेदिनीनगर के जनता शिवरात्रि कॉलेज में जनभागीदारी के साथ संविधान दिवस कार्यक्रम आयोजन

डालटनगंज। क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो,डालटनगंज सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय,भारत सरकार द्वारा शुक्रवार को संविधान दिवस के मौके पर जनता शिवरात्रि कॉलेज, मेदिनीनगर में *जनभागीदारी के साथ संविधान दिवस* कार्यक्रम का आयोजन किया। दीप प्रज्जवलित कर अतिथियों ने कार्यक्रम की शुरुआत की इसके पश्चात संविधान की उद्देशिका का पाठ किया गया।

अतिथियों के संबोधन से पहले संविधान निर्मात्री समिति के सदस्य रहे स्व. यदुवंश सहाय उर्फ यदु बाबू के सुपौत्र वृजनंदन सहाय ‘‘मोहन बाबू‘‘ को मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों के द्वारा अंग वस्त्र एवं संविधान की पुस्तक देकर सम्मानित किया गया।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

* संविधान की उद्देशिका का पाठ करते उपस्थित लोग

मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीलांबर-पीतांबर विश्विद्यालय के कुलपति डा. रामलखन सिंह ने कहा कि जनभागीदारी के साथ संविधान दिवस मनाने का भारत सरकार का बहुत बढ़िया निर्णय है। पहले इसे दिवस के विधि दिवस के रूप में मनाया जाता था। इस कार्यक्रम में जनभागीदारी दिखाई दे रही है। कुलपति ने इस मौके पर पलामू जिले से संविधान निर्मात्री समिति में सदस्य रहे स्व. यदुवंश सहाय एवं अमिय कुमार घोष के योगदान विषय पर विश्वविद्यालय में शोध पीठ स्थापति करने की घोषणा की।

विशिष्ट अतिथि के रूप में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पलामू के उपायुक्त श्री शशि रंजन ने कहा कि संविधान के निर्माण में पलामू के दो शख्सियतों के योगदान के बारे में जानकर उन्हें बेहद गर्व हो रहा है। जिला जनसंपर्क कार्यालय के माध्यम से आम लोगों बीच भी उनकी जीवनी का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। आगे उन्होंने कहा कि संविधान दिवस के अवसर पर आज हमलोग प्रस्तावना का पाठ कर रहे हैं। प्रस्तावना संविधान की मूल आत्मा है। प्रस्तावना ही मागर्दशर्न का कायम करता है।

जिले की उप विकास आयुक्त सुश्री मेघा भारद्वाज ने कहा कि जनभागीदारी के साथ संविधान दिवस समारोह के आयोजन से युवाओं और नागरिकों को संविधान के मूल्यों की जानकारी मिलेगी। आम लोग संविधान को जितना जान और समझ पाएंगे, यह देश की उन्नति लिए उतना ही बेहतर है।

*विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को सम्मानित करते उपायुक्त

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के उपनिदेशक श्री आनंद ने इस मौके पर छात्रों से संविधान से संबंधित सवाल पूछे और उपस्थित लोगों को मौलिक अधिकारों की जानकारी दी।

जनता शिवरात्रि कॉलेज के प्रचार्य डा. आर पी सिंह ने कहा कि इस तरह के आयोजन से कॉलेज के छात्रों का ज्ञानवर्द्धन हुआ है। संविधान और इसके कर्तव्यों की जानकारी से छात्रों विशेषकर युवाओं की देश के प्रति सोच सकारात्मक होगी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक श्री प्रभात मिश्र ने कहा कि संविधान की मूल प्रति पर आज ही 284 सदस्यों ने हस्ताक्षर किए थे। इनमें से दो यदुवंश सहाय 'यदु बाबू' और अमिय कुमार घोष 'गोपा बाबू' अपने पलामू जिले के थे। पलामू के इन दो सपूतों के संविधान निर्माण में योगदान को भूलाया नहीं जा सकता।

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी श्री गौरव कुमार पुष्कर ने कहा कि भारत सरकार ने जनभागीदारी से संविधान दिवस मनाने के मतलब है कि जन-जन तक संविधान की जानकारी पहुंचना।

इस मौके पर 25 नवंबर को आयोजित रंगोली, क्विज, स्केच और भाषण प्रतियोगिताओं के पांच-पांच विजेताओं को मुख्य अतिथित के द्वारा पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का संचालन कॉलेज के शिक्षक कमलेश पांडेय ने किया जबकि मौके पर क्षेत्रीय प्रचार सहायक, श्री मनोज कुमार, प्रकाश राय, सहित 300 की संख्या में युवा, छात्र और आम लोग मौजूद रहे।

must read