रांची सहित झारखंड के कई जिलों में 2 दिसंबर से बादल छाएंगे। मौसम विभाग के अनुसार, 4, 5 और 6 दिसंबर तक हल्की बारिश होने की संभावना है। 

बादल छाने की वजह से रात के तापमान में बढ़ोतरी होगी। बारिश की संभावना को देखते हुए बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग ने किसानों को धान की कटी हुई फसल को सुरक्षित रखने की सलाह दी है।

 वहीं जो किसान दूसरे फसलों की बोआई कर चुके हैं उन्हें खेतों में जल निकासी के लिए नालियां बनाने की सलाह दी गई है।
दक्षिणी अंडमान में बना है निम्न दबाव का क्षेत्र

मौसम विज्ञानी अभिषेक आनंद ने बताया कि दक्षिणी अंडमान में निम्न दबाव का क्षेत्र बना है। इसका विस्तार पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर हो रहा है। इसका असर झारखंड पर भी देखने को मिलेगा। तीन दिसंबर को राज्य के दक्षिणी इलाके में हल्की बारिश की संभावना जताई गई है। वहीं राज्य के उत्तर पूर्वी और मध्य भागों में भी हल्की बारिश होने के आसार हैं। बारिश के बाद कड़ाके की ठंड पड़ेगी।

हिमालय पहाड़ों पर होनेवाली बर्फबारी का भी पड़ेगा असर।मौसम विभाग ने बताया है कि हवाओं का रुख अभी दक्षिण पश्चिम है। इस वजह से प्रदेश के सभी हिस्सों में मौसम शुष्क देखने को मिल रहा है। बादल छंटने के बाद ठंड बढ़ेगी। वहीं पहाड़ों में होनेवाली बर्फबारी का भी असर देखने को मिलेगा।

आज सुबह राजधानी राँची में कोहरा और धुंध छाया रहा। हालांकि सुबह 8 बजे तक धूप खिल गई। मौसम विभाग के अनुसार, राज्य में अगले दो से तीन दिनों तक तापमान में किसी बड़े बदलाव की संभावना नहीं है। उसके बाद तापमान में 3 से 4 डिग्री की बढ़ोतरी होगी।

--------------------------Advertisement--------------------------Birsa Jayanti

must read