*Image credit wikipedia

भारत सरकार की भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत ओडिशा (Odisha) के संबलपुर (Sambalpur) से झारखंड के रांची तक एक्सप्रेस-वे बनेगा. ये एक्सप्रेस-वे की कुल लंबाई 146.2 किलोमीटर होगी. 

वहीं सुरक्षा के दृष्टिकोण से सड़क का निर्माण इस तरीके से कराया जाएगा, ताकि ये दुर्घटनामुक्त रहे. इसके लिए सारे उपाय किए जाएंगे, ये डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) में अंकित है।

इसके लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) तैयार किया गया है. एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की स्पीड लिमिट (Speed Limit) 120 किमी प्रति घंटे होगी. वहीं, रोड पर अचानक गाड़ी या जानवर (Animal) न आ पाए, इसके लिए भी उपाए किए जाएंगे.

इस योजना पर जल्द ही कार्य शुरू कर दिए जाने की उम्मीद है. इसके बन जाने से राज्य में सड़क परिवहन (Road Transport) सुगम हो जाएगा और साथ ही झारखंड की तस्वीर भी बदल जाएगी. इसके निर्माण के बाद ट्रांसपोर्टिंग बेहतर होगी और व्यापार (Business) को बढ़ावा मिलेगा. वहीं समय (Time) की भी बचत हो सकेगी.

सुरक्षा के मद्देनजर बनेंगे आठ फीट ऊंचे गार्डवाल 
बता दें कि DPR में यह व्यवस्था की गई है कि पूरी सड़क पर दोनों ओर आठ फीट ऊंचा गार्डवाल (Guard Wall) बनाया जाए. ताकि सड़क (Road) पर अचानक गाड़ी या जानवर नहीं आ सकें. वहीं, जानवरों के सड़क पार करने के लिए अंडर पास (Underpass) का निर्माण कराया जाएगा. इसका पूरा ख्याल रखा जाएगा कि सड़क बन जाने से जानवरों का मार्ग अवरुद्ध न हो.

रांची, धनबाद और बोकारो को एक्सप्रेस-वे से जोड़ने की कवायद 
भारतमाला प्रोजेक्ट (Bharatmala Project) के अंतर्गत एक्सप्रेस-वे का निर्माण संबलपुर से रांची (Ranchi) तक ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट (Greenfield Project) के रूप में होगा. इस प्रोजेक्ट के तहत रांची (Ranchi), धनबाद (Dhanbad) और बोकारो (Bokaro) को एक्सप्रेस-वे से जोड़ने की कवायद हो रही है. 

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read