झारखंड सरकार ने विधान सभा में आज आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश की। इसमें झारखंड का ग्राॅस स्टेट डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GSDP) देश के सकल घरेलू उत्पाद के दो प्रतिशत से भी कम है। 

पिछले दो वर्षों में विकास दर में गिरावट आई है। लॉकडाउन में कृषि, वानिकी, मछली पकड़ने, बिजली गैस, जल आपूर्ति को छोड़कर अन्य क्षेत्र के उत्पादन मूल्य में संकुचन हुआ है।

अब हेमंत सरकार वार्षिक ( २०२२-२३)बजट पेश करेगी।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read