राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद( NCERT) द्वारा 23-25 मार्च को पूरे देश में FLN-नैस (फाउंडेशन लिटरेसी एंड न्यूमेरिकल-नेशनल अचीवमेंट सर्वे) सर्वेक्षण कराया जाएगा। इस सर्वेक्षण के लिए राज्य से 297 स्कूलों का चयन हुआ है।

राज्य के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव ने इस सर्वेक्षण की तैयारी को लेकर सभी जिलों को आदेश जारी कर दिया है। बच्चे इसकी ठीक से तैयारी कर सकें, इसे लेकर उन्होंने होली में भी 17 एवं 18 मार्च को चयनित स्कूलों को सामान्य दिनों की तरह संचालित करने तथा इस दौरान बच्चों को ज्ञानसेतु वर्कबुक, वर्ष 2017 एवं 2021 में आयोजित नेशनल अचीवमेंट सर्वे में कक्षा तीन के प्रश्नों के आधार पर तैयारी कराने को कहा है।

उन्होंने कहा है कि कोरोना के कारण स्कूल बंद रहे हैं, इस कारण बच्चों को विशेष तैयारी कराने की आवश्यकता है। उन्होंने 17-18 मार्च को भी कक्षा तीन के बच्चों को मिड डे मील उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि इन दो दिनों के लिए शिक्षकों को अलग से अवकाश दिया जाएगा। इस सर्वेक्षण का उद्देश्य बच्चों की आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक ज्ञान के अंतर्गत ओआरएफ यानी मौखिक पठन प्रवाह (ओरल रीडिग फ्लूएंसी) संबंधी मानक तैयार करना है।

इसके तहत एक मिनट में बच्चे द्वारा पढ़े गए सही शब्दों की संख्या को पर्यवेक्षक द्वारा नोट किया जाएगा। नई शिक्षा नीति पर आधारित यह सर्वेक्षण आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मक ज्ञान के लक्ष्यों को प्राप्त करने में महत्वपूर्ण साबित होगा। कक्षा तीन के बच्चों में आधारभूत साक्षरता व संख्यात्मक ज्ञान का लक्ष्य पूरा हो, इसे लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा कार्यक्रम भी चलाया जा रहा है। इसे लेकर शिक्षकों को विशेष प्रशिक्षण भी दिया गया है।

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read