झारखंड मे रोजी -रोटी वाले लोग भले घर के लिए इधर उधर घुमते दिखे, लेकिन सरकार ने अपने 11 मंत्रियों के लिए स्मार्ट सिटी में बंगला बनाने का काम शुरू करवा किया है. 

ये सारे बगले हाईटेक सुविधाओं से लैस होंगे. सूचना है कि रांची स्मार्ट सिटी में 9 एकड़ भूमि पर 69.90 करोड़ की लागत से 11 आवास का निर्माण हो रहा है. 

सवाल उठता है कि उन बंगलो का क्या होगा जिसमें आज हर १२ मंत्री बंगलो में ही रहते है? कोई नही जनता भगवान के अलावा। सरकार के कोई अधिकारी नही जानते। शायद वे ही इन सब बंगलो में रहने लगे।

जो भी हो, प्राइवट कंपनी ने 24 महीने में सभी आवास का निर्माण पूरा करने की बात कही है. बताया जाता है कि इन बगलों को वास्तु के हिसाब से बनाया जा रहा है. यहां अंगूर के पौधे लगाए जाएंगे. इसका निर्माण 2 सालों में पूरा कर लिया जाएगा.

और दिल्ली की कंपनी मास एंड वायड ने मंत्रियों के बंगलों की डिजाइन तैयार किया है.जानकारी के अनुसार बंगलों का निर्माण पर्यावरण, वास्तु एवं हरियाली का पूरा ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है. निर्माण शुरू करने से पहले कंपनी के द्वारा भूमि पूजन भी किया गया है. 

इसके बाद सिमेंट -ईंट का काम शुरू किया गया. इसके साथ ही पीसीसी का निर्माण भी शुरू कर दिया गया है.हर मंत्री का बंगला डूप्लेक्स आकर में तैयार करने का प्लान है.

इतिहास कहता है कि झारखंड राज्य गठन के बाद पहली बार मंत्रियों के लिए बन रहे इन बंगलों सभी अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी. बंगले का मुख्य द्वार पूर्व दिशा में होगा. 

स्नानागार, शौचालय, किचन आवासीय कार्यालय प्रतीक्षालय एवं शयन कक्ष का निर्माण वास्तु को ध्यान में रखकर किया जा रहा है. बंगलों को डुप्लेक्स आकार में तैयार किया जा रहा है. भूतल पर दो शयन कक्ष, प्रतीक्षालय, बैठक कक्ष, दो शौचालय कक्ष ,डायनिंग हॉल का निर्माण किया जाएगा. प्रत्येक बंगलों में बालकनी युक्त पांच शयनकक्ष बनेगा. प्रथम तल पर मास्टर बैडरूम सहित कुल 3 बेड रूम बनाए जाएंगे.

आवासीय परिसर में क्लब स्विमिंग पुल और ओपन जिम की भी सुविधा होगी. इसके अलावा मंत्रियों के आवासीय परिसर में क्लब हाउस,चिल्ड्रन प्ले जोन लाउंज, वॉलीबॉल, बैडमिंटन कोर्ट का भी इंतजाम रहेगा. पूरे परिसर में हरियाली रहेगी. 

बैडमिंटन लैंड एस्केपिंग के लिए बेहतर किस्म की घास लगाई जाएगी. छायादार एवं फलदार वृक्ष से पूरा परिसर भरा रहेगा. फलों में अंगूर के पौधे भी लगाए जाएंगे. आवासीय परिसर में फुटपाथ के साथ साइकिलिंग के लिए पाथ वे बनेगा. योगा के लिए विशेष ध्यान दिया गया है.
 

-----------------------------Advertisement------------------------------------Abua Awas Yojna 

must read