झारखंड में आयोजित विशेष अभियान का प्रतिफल है कि इस अभियान के जरिए अब तक 26794 दिव्यांगजनोंं को चिन्हित कर जांच के बाद उन्हें यूडीआईडी पोर्टल पर पंजीकृत किया गया।

 इसमें सर्वाधिक रांंची के 5069, पाकुड़ के 5117 और हजारीबाग के 2635 दिव्यांगजन को विशेष अभियान के तहत शिविर में लाभांवित हुए।

*सबसे अधिक मेडिकल जांच पाकुड़ में*

इस विशेष अभियान के दौरान अब तक दिव्यांगजनों को प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने हेतु सबसे अधिक दिव्यांगजनों की जांच 5140 पाकुड़ में किए गए। 

इसके बाद गुमला में 4563 और हजारीबाग में 3012 दिव्यांगजनों की जांच किया गया। साथ ही, शिविर के माध्यम से यूडीआईडी पोर्टल पर लम्बित आवेदनों के सत्यापन की संख्या 13807 एवं विभागीय मार्ग निर्देशिका के तहत जिला स्तर पर दिव्यांगता प्रमाण पत्र रखने वाले दिव्यांगजनों से ऑफलाइन माध्यम से एकत्र आवेदनों की संख्या 95278 थी।

*सरकार आपके द्वार का भी मिला लाभ*

हेमंत सोरेन सरकार द्वारा आयोजित आपके अधिकार - आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के जरिए 18699 दिव्यांग पेंशन के आवेदन निष्पादित किए गए। 

सबसे अधिक 2295 पलामू, देवघर के 2192 एवं गिरिडीह के 1486 आवेदन निष्पादित हुए। सर्वजन पेंशन योजना लागू होने के बाद स्वामी विवेकानंद निःशक्त स्वावलंबन प्रोत्साहन योजना अंतर्गत 24162 दिव्यांग पेंशन स्वीकृत किया जा चुका है।

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read