आज सूर्य निकलने के पहले बुधवार देर रात धनबाद के कतरास थाना क्षेत्र स्थित चैतूडीह एक बार फिर गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. 

फिर खूनी संघर्ष में पांच लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए. सभी का नजदीकी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

इस दौरान एक कार को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया. खुलेआम पिस्टल, देशी कट्टा, लाठी, डंडे, हरवे हथियार लहराया गया. 

धनबाद के कतरास थाना क्षेत्र के चैतूडीह में अवैध कोयला का कारोबार लंबे समय से संचालित हो रहा है. इस कारोबार को संचालित करने का आरोप वशिष्ठ चौहान और उसके गुर्गों पर है. अवैध कोयला कारोबार को बंद करने, खूनी संघर्ष पर लगाम लगाने की मांग को लेकर लकड़का के ग्रामीणों ने कतरास थाना का घेराव कर दिया. थाना के समक्ष सड़क पर बैठकर प्रदर्शन करते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की.क्यों?

धनबाद जिला में अवैध कोयला कारोबार धड़ल्ले से जारी है और पुलिस इस अवैध कारोबार की  संरक्षक बनी हुई है. अवैध कोयला कारोबार को लेकर लगातार खूनी संघर्ष हो रहा है. अवैध कोयला कारोबार में वर्चस्व और विरोध को लेकर मारपीट हो रही है. कुछ खास व्यक्तियों के गुर्गों पर आरोप लग रहे हैं. इसके बावजूद पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. 

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read