*Representational image credit News18

झारखंड के अल्पसंख्यक कल्याण और पर्यटन कला संस्कृतिखेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री हफीजुल हसन ने गढ़वा में कहा कि जब एक धर्म विशेष के 20 लोगों के ज्यादा डिस्टर्ब होने पर उनका घर बंद होगा, तो दूसरे पक्ष के 70 लोगों का भी घर बंद होगा। इससे सभी को नुकसान होगा।

हसन JMM पार्टी के विधायक है।इस विवादित बयान देकर वो सुर्ख़ियों पर है। वो भी तब जब मुख्य मंत्री हेमंत सोरेन आरोपो में घिरे हैं।

गढ़वा में एक इफ्तार पार्टी में दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा को लेकर पूछे गए सवाल पर मंत्री हफीजुल हसन ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से देश में एक धर्म विशेष के साथ जो किया जा रहा है और जो हो रहा है, वह सबको पता है। उससे सबका नुकसान होगा। हफीजुल हसन अंसारी ने कि ज्यादा डिस्टर्ब होने पर हमारे 20 घर बंद होगें, तो आपके 70 घर बंद होगें।

इधर, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने मंत्री के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उनसे इस्तीफे की मांग की है। दीपक प्रकाश ने ट्वीट में लिखा है- ‘अगर मुख्यमंत्री जी में हिम्मत है तो इस मंत्री का इस्तीफा लेकर दिखाए।’

भाजपा ने माँगा इस्तीफ़ा। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने मंत्री के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उनसे इस्तीफे की मांग की है। दीपक प्रकाश ने ट्वीट में लिखा है- ‘अगर मुख्यमंत्री जी में हिम्मत है तो इस मंत्री का इस्तीफा लेकर दिखाए।’

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read