*रविवार के दिन राँची में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा

भीषण गर्मी के बीच आज जब भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा विश्वास रैली के दौरान मंच बैठे तो उनके पसीने छूट रहे थे।

लेकिन ये गर्मी और पसीना झारखंड की राजनीतिक गलियारे में भी महसुश की जा ने लगी है।उसका कारण ईडी द्वारा छापे मारी जो मुख्य मंत्री हेमंत सोरेन के निजी सदस्य प्रेम प्रकाश और विशाल चौधअरी तक पहुँच चुकी है।

जो भी हो, जेपी नड्डा दिल्ली से रांची स्थित बिरसा मुंडा एयर पोर्ट पर पहुंचे जहां झारखंड बीजेपी के अध्यक्ष दीपक प्रकाश के नेतृत्व में पूर्व सीएम बाबूलाल मंरांडी, रघुवर दास, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा समेत कई नेताओं ने राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत किया। 

जेपी नड्डा कुछ देर के लिए एयरपोर्ट के विश्राम गृह में रुके और वहां से मोरहाबादी मैदान के लिए प्रस्थान कर गए। रास्ते में बिरसा चौक पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भगवान बिरसा को श्रद्धांजलि देकर उन्हें नमन किया। इस दौरान हजारों की संख्या में कार्यकर्ता भी मौजूद रहे। 

मोरहाबादी मैदान में जेपी नड्डा का झारखंड के विभिन्न जिलों से पहुंचे पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने पार्टी झारखंडी परंपरा के अनुसार भव्य स्वागत किया गया। आदिवासी पुरुषों और महिलाओं ने पारंपरिक परिधानों में सुसज्जित होकर नाच-गान, ढोल, मंजीरे की संगीत के साथ अभिनंदन किया। 

ऐ था तस्वीर मोराबादी मैदान में जहाँ बीजेपी की ओर से धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा विश्वास रैली का आयोजन किया गया था।ओर बतौर मुख्य अतिथि जेपी नड्डा शिरकत कर रहे थे।

रैली के बाद जनसभा में भाजपा विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि हमें झामुमो की सरकार को उखाड़ फेंकना है। इसका हम सभी संकल्प लें। झारखंड की सरकार शोषण करने वाली सरकार है। जनता को बरगला कर यह सरकार बनाई है। 

“सरकार का चरित्र लूट और शोषण का है। आदिवासी के बीच भाजपा जिस स्तर से काम कर रही है यह किसी से छुपा नहीं है। दूसरे दल काम नहीं कर रहे हैं। भाजपा ने देश को सबसे ज्यादा आदिवासी सांसद और विधायक दिए हैं। “

रैली में 32 आदिवासी समूह अपनी अपनी पारंपरिक वेष भूषा और परिधान में आए हैं जो झारखंड की जनजातीए संस्कृति का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। मैदान में आदिवासी खानपान के स्टॉल भी लगवाए गए हैं।

भाजपा नेता जे पी नड्डा को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार देश में 10 ऐसे संग्रहालय बना रही है जहां आदिवासी नेताओं के योगदान को बताया और दिखाया जाएगा। उन्होंने ये भी कहा की मोदी सरकार में 11 करोड़ शोचालय बने हैं जिसमें 1.5 करोड़ आदिवासीवों के हैं।

-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga

must read