मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन से आज जमीयत -उलेमा झारखंड, अंजुमन इस्लामियां, इमारत -ए -शरिया और एदार -ए -शरिया के संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की । 

उन्होंने 10 जून को राजधानी रांची में हुई हिंसा और इससे जुड़े तथ्यों से मुख्यमंत्री को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि रांची समेत पूरे राज्य में अमन- चैन, शांति और सदभाव का माहौल बना रहे, इसके लिए वे सरकार के साथ हर कदम पर खड़े हैं । 

यहां सभी वर्ग और तबके के लोग हमेशा से ही आपसी प्रेमभाव और भाईचारगी के साथ रहते आए हैं और इसमें किसी को खलल डालने नहीं दिया जाएगा । उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि रांची में हुई हिंसा में जो भी दोषी पाए जाएं, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए तथा मारे गए लोगों के परिजनों के साथ न्याय होना चाहिए। 

प्रतिनिधिमंडल में जमीयत- उलेमा के मुफ़्ती शहाबुद्दीन कासमी, श्री मंजर खान, मोहम्मद खालिद उमर, डॉ आसिफ अहमद और मौलाना एस रहमान, अंजुमन इस्लामियां से श्री अबरार अहमद, डॉ असलम परवेज और श्री एम रहमान, इमारत -ए -शरिया से मुफ़्ती अनवर कासमी, मौलाना ओबैदुल्लाह कासमी तथा एदार -ए -शरिया के मौलाना कुतुबुद्दीन रिज़वी, वरीय अधिवक्ता श्री एम खान मुफ़्ती फैजुल्लाह मिस्बाही और श्री एस अली शामिल थे।

-------Advertisement-------Jharkhand Janjatiya Mahoutsav-2022
-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga
-------Advertisement-------

must read