यह हम सभी के लिए गर्व की बात है कि हमारे राज्य की बच्चियां खेलों की दुनिया में बहुत तेजी से आगे बढ़ रही हैं। वे अपने प्रदर्शन से राज्य और देश का नाम दुनिया में रौशन कर रही हैं। हमें अपने खिलाड़ियों पर नाज है । 

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आज शिष्टाचार मुलाकात करने आयीं राज्य की महिला हॉकी खिलाड़ियों से बातचीत के क्रम में कही। हॉकी की इन प्रतिभावान बच्चियों का चयन अमेरिका में आयोजित होने वाले तीन सप्ताह के खेल और सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम के लिए हुआ है। मुख्यमंत्री ने इन पांच हॉकी खिलाड़ियों को शुभकामनाएं देते हुए भविष्य में बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद जताई।

*खेल और खिलाड़ियों के लिए कई योजनाएं*

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खेल और खिलाड़ियों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। इस सिलसिले में कई योजनाएं शुरू की गई है। प्रतिभावान खिलाड़ियों की पहचान और उनके हुनर को निखारने के लिए विशेष पहल की जा रही है। खिलाड़ियों के उत्तम कोटि के प्रशिक्षण की व्यवस्था की जा रही है।

विशेषकर हॉकी और फुटबॉल जैसे खेलों में ग्रामीण इलाकों से निकलने वाले खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मौका मिले। उन्हें विभिन्न प्रतियोगिताओं में भागीदारी करने का मौका मिले । इसके लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं। खिलाड़ियों की जो भी जरूरतें होंगी, उसे पूरा किया जाएगा। हमारी कोशिश है कि खेलों की दुनिया में झारखंड एक शक्ति के रूप में उभरे और देश- दुनिया में एक अलग पहचान बनाए।

-------Advertisement-------Har Ghar Tiranga

*भागीदारी को लेकर उत्साहित है बच्चियां*

मुख्यमंत्री ने बच्चियों से कहा कि वे जब अमेरिका से वापस आएंगी वे उनसे मिलेंगे और उनके अनुभवों को जानेंगे, ताकि आने वाले दिनों में उन्हें इस तरह के और भी मौके मिले इसके लिए प्रयास किया जा सके। इन बच्चियों ने भी मुख्यमंत्री से कहा कि वे इस कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर लिए काफी उत्साहित हैं।

*इन महिला हॉकी खिलाड़ियों का चयन*

खूंटी जिले की पुण्डी सरू और जूही कुमारी, सिमडेगा जिले की हेनरिटा टोप्पो और पूर्णिमा नेती तथा गुमला जिले की प्रियंका कुमारी का चयन अमेरिका के मिडिलबरी कॉलेज में 24 जून से 13 जुलाई तक आयोजित होने वाले खेल और सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम के लिए हुआ है।

*इस आधार पर हुआ है चयन*

ईस्ट इंडिया वीमेंस हॉकी एंड लीडरशिप कैंप के दूसरे संस्करण -2020 में आयोजित हॉकी प्रशिक्षण शिविर में प्रदर्शन के आधार पर शीर्ष पांच महिला हॉकी खिलाड़ियों का चयन इस कार्यक्रम के लिए किया गया है। गौरतलब है कि एनजीओ शक्ति वाहिनी
के साथ साझीदारी में यूएस कांसुलेट, झारखंड हॉकी फेडरेशन दक्षिण पूर्व रेलवे झारखंड पुलिस और ब्यूरो ऑफ एजुकेशनल एंड कल्चरल अफेयर्स के सहयोग से वर्ष 2018 में ईस्ट इंडिया हॉकी प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई थी।

must read